खड़ंजा कुतुबपुर जिला पंचायत सदस्य के आवास पर रिपोर्ट ली, हाईकोर्ट ने जिला पंचायत राज अधिकारी से मांग रखी है रिपोर्ट

हरिद्वार / लक्सर । खड़ंजा जिला पंचायत सीट को रिक्त किए जाने की मांग को लेकर नैनीताल हाईकोर्ट में दायर याचिका पर जिला पंचायत राज अधिकारी ने लक्सर तहसील प्रशासन से रिपोर्ट मांगी है। डीपीआरओ के निर्देश के बाद लेखपाल ने नगरपालिका और राजस्व अभिलेखों के साथ ही मौके का निरीक्षण कर रिपोर्ट एसडीएम को सौंप दी है। वर्ष 2016 में हुए त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में हरिद्वार की जिला पंचायत सीट संख्या 41 खड़ंजा कुतुबपुर से बसपा के टिकट पर लक्सर निवासी बिजेंद्र चौधरी ने पूर्व जिपं अध्यक्ष चौधरी राजेंद्र सिंह को हराकर चुनाव जीता था। हाल ही में सुसाड़ा (रुड़की) निवासी महेंद्र सिंह ने नैनीताल हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर कर इस सीट को रिक्त घोषित करने की मांग की है। उनका तर्क है कि जिपं सदस्य बिजेंद्र सिंह का निवास स्थान पूर्व में लक्सर नगर पंचायत की सीमा से सटा होने के कारण जिपं क्षेत्र में था। लेकिन नगर पंचायत को उच्चीकृत कर नगरपालिका बनाते समय इसे नगरीय क्षेत्र में शामिल कर लिया गया है। 3 जनवरी 2017 में सरकार इसका नोटिफिकेशन भी कर चुकी है। ऐसे में पंचायती राज ऐक्ट 2016 की धारा 90 (4) क के मुताबिक जिपं सीट को रिक्त माना जाना चाहिए। हाईकोर्ट ने इस पर सरकार से जवाब मांग रखा है। सरकार के निर्देश पर हरिद्वार के जिला पंचायत राज अधिकारी ने जिपं सदस्य बिजेंद्र चौधरी के निवास स्थान के बारे में तहसील प्रशासन से जानकारी मांगी है। डीपीआरओ के पत्र के बाद लक्सर के लेखपाल पंकज राजपूत ने गत दिवस मौके का निरीक्षण करने के साथ ही नगरपालिका और राजस्व दस्तावेजों को भी खंगाला। उन्होंने बताया कि आवास अकौढा औरंगजेबपुर के मजरा शेखपुरी के खसरा संख्या 53 में बना हुआ है। इसकी रिपोर्ट तैयार करके एसडीएम के माध्यम से डीपीआरओ को भेजी जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *