राष्ट्रीय एकता के पक्षधर थे भगवान श्रीचंद्र, जाति, धर्म, सम्प्रदाय की भावना से ऊपर उठकर सभी को राष्ट्रीय एकता का लक्ष्य दिया, भगवान श्रीचंद्र की मूर्ति पुर्नस्थापना कार्यक्रम को राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने बतौर मुख्य अतिथि संबोधित किया

हरिद्वार । राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने कहा कि संत महापुरूषों के सानिध्य में कुंभ मेला दिव्य व भव्य रूप से सकुशल संपन्न होगा। श्री पंचायती अखाड़ा बड़ा उदासीन के संतों के सानिध्य में चंद्राचार्य चौक स्थित भगवान श्रीचंद्र की मूर्ति पुर्नस्थापना कार्यक्रम को संबोधित करते हुए राज्यपाल ने कहा कि यह गौरव का विषय है कि भारतीय र्ध संस्कृति की एक महान विभूति की प्रतिमा का पुर्नस्थापना का अवसर हम सब को मिला है। नगर के बीच में स्थापित श्रीचंद्र भगवान की प्रतिमा भावी पीढ़ियों को हमारे महापुरूषो की जानकारी देगी। भगवान श्रीचंद्र राष्ट्रीय एकता के पक्षधर थे। भगवान श्रीचंद्र जाति, धर्म, सम्प्रदाय की भावना से ऊपर उठकर सभी को राष्ट्रीय एकता का लक्ष्य दिया। सभी को उनके विचारों व कृतित्व से प्रेरणा लेनी चाहिए। एक दूसरे के कष्टों को महसूस कर सहयोग की भावना, सबकी उन्नति की कामना की भावना भारतीय संस्कृति को विशेष बनाती है। इस दौरान श्री पंचायती अखाड़ा बड़ा अखाड़ा उदासीन के श्रीमहंत रघुमुनि महाराज, योग गुरू बाबा रामदेव, कोठारी महंत दामोदर दास, आचार्य बालकृष्ण, स्वामी हरिचेतनानंद, संजय महंत, सतपाल ब्रह्मचारी, कुम्भ मेला अधिकारी दीपक रावत, जिलाधिकारी सी.रविशंकर, आईजी कुम्भ मेला संजय गुंज्याल, अपर मेलाधिकारी हरबीर सिंह, ललित नारायण मिश्र, सीओ सिटी अभय प्रताप सिंह, भूपेन्द्र कुमार सहित अनेक प्रशासनिक अधिकारी एवं संत महंत उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *