लो ब्लड शुगर भी है शरीर के लिए खतरनाक, एक्सपर्ट से जानिए लक्षण, कारण और उपचार

शरीर में ब्लड शुगर का लेवल हाई हो जाने को डायबिटीज कहा जाता है। यह समस्या धीरे-धीरे शरीर को अंदर से खोखला कर देती है और किडनी, आंखों जैसे कई अंगों पर प्रेशर डालकर खराब कर देती है। लेकिन, हाई शुगर की तरह शरीर में लो ब्लड शुगर भी खतरनाक होता है। जिसके बाद कई लक्षण दिखने लगते हैं। शरीर में लो ब्लड शुगर की समस्या को हाइपोग्लाइसेमिया कहा जाता है। इससे बचने के लिए कुछ फूड्स का सेवन करना चाहिए। डायबिटीज में शरीर में ब्लड शुगर का लेवल हाई हो जाता है। डायबिटीज व्यक्ति के शरीर को अंदर से खोखला कर देती है और किडनी, आंखों जैसे कई अंगों पर प्रेशर डालकर खराब कर देती है। हाई ब्लड शुगर की तरह ही Hypoglycemia यानी लो ब्लड शुगर भी बेहद खतरनाक है। इस स्थिति में व्यक्ति शरीर में Sugar के स्तर का कम हो जाता है। सामान्यत: Sugar का स्तर 70 और उससे अधिक होता है।जब शरीर में शुगर की मात्रा कम होने लगती है, दिमाग हमें इसके बारे में सूचित करता है। Sugar कम होने के शुरुआती लक्षण – ठंड लगना, पसीना आना, कांपना, हृदय गति में वृद्धि होना आदि है। अगर आपको यह लक्षण दिखाई दे रहे है तो उसी वक्त आपको डॉक्टर के पास जाना चाहिए। जब शरीर में ब्लड शुगर नॉर्मल लेवल से नीचे चला जाता है, तो उसे हाइपोग्लाइसेमिया कहा जाता है।NIDDK (नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ डायबिटीज एंड डाइजेस्टिव एंड किडनी डिजीज, यूनाइटेड स्टेट्स) के मुताबिक, हाइपोग्लाइसेमिया डायबिटीज के कारण शरीर में रक्त शर्करा 70 mg/dl से भी नीचे चली जाती है। 70 mg/dl का लेवल सामान्य रूप से नॉर्मल माना जाता है। लेकिन कुछ लोगों के लिए यह अलग-अलग हो सकता है। हाइपोग्लाइसेमिया होने के कई कारण हो सकते हैं। जिसमें इंसुलिन या ब्लड शुगर को कम करने वाली दवाओं का सेवन, फास्ट रखना, बिना खाने के साथ शराब का सेवन, अत्यधिक शारीरिक गतिविधि, बीमार पड़ना, जरूरी मात्रा में कार्ब्स का सेवन ना करना, आदि शामिल हैं।

Low blood sugar होने पर इसका रखें ध्यान: हेल्थलाइन में छपे एक लेख के मुताबिक, ब्लड शुगर 55-70 mg/dl के बीच होता है, तो सही समय यानी तुरंत कुछ मीठा पदार्थ (किशमिश, अनानास, अंगूर, केला आदि) खाने से फायदा हो सकता है। लेकिन, अगर आपको फिर भी आराम नहीं मिलता है, तो तुरंत डॉक्टर को दिखाएं।
डॉक्टर उदय फडके के अनुसार अगर आपको लगता है की मरीज की शुगर कम हो रही है और आपके पास glucometer है तो Glucometer से मरीज का Sugar लेवल चेक करना बहुत जरूरी है। अगर पेशेंट होश में है तो उसे 20-30 gram carbohydrate दे सकते हैं, इसके अलावा 20-30 ग्राम चीनी दे सकते हैं। वहीं अगर मरीज बेहोश है तो कुछ भी खाने को न दें। ऐसे स्थिति में glucagon injection आपके घर में हमेशा होना चाहिए। इसके अलावा तुरंत अपने नजदीकी अस्पताल में संपर्क करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *