कोरोना की वजह से प्रदेश में लाखों लोग हो गए बेरोजगार, बच्चों की स्कूल फीस, बिजली का पानी बिल देने में असमर्थ, विश्व हिंदू संस्था ने शहरी विकास मंत्री के माध्यम से सीएम को ज्ञापन भेजा

हरिद्वार । विश्व हिंदू संस्था की एक सभा कनखल स्थित कार्यालय पर संपन्न हुई। सभा मे कोरोना महामारी के चलते बेरोजगार हुए राज्य वासियों को हो रही परेशानियों पर चर्चा करते हुए संस्थापक देवेंद्र प्रजा पति ने बताया कि उत्तराखंड में कोरोना की वजह से लाखों लोग बेरोजगार हो गए हैं। जिसकी वजह से उन्हें बच्चों का पालन पोषण करने में भारी दिक्कत आ रही है। उन्होंने कहा कि राशन, बच्चों की स्कूल फीस, हाउ टैक्स, वाटर टैक्स, बैंक लोन की किस्तों पर लगने वाला चक्रवृद्धि ब्याज, मकान का किराया भी लोग देने में असमर्थ हो गए हैं। कोरोना का सर्वाधिक असर गरीब परिवारों पर हुआ है। इन सभी मांगों को लेकर विश्व हिंदू संस्था के प्रतिनिधिमंडल ने सरकार को अवगत कराने हेतु शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन दिया। ज्ञापन में मांग की गई है कि उत्तराखंड में छह माह का बिजली का बिल, हाउस टैक्स, वाटर टैक्स, स्कूल फीस, बैंकों लोन पर चक्रवृद्धि ब्याज माफ किया जाए एवं लॉकडाउन के दौरान बेरोजगार युवाओं को बेरोजगारी भत्ते के रूप में आर्थिक सहायता दी जाए। ज्ञापन देने वालों में विश्व हिंदू संस्था के प्रदेश महासचिव केतन सहगल, करून मदान उर्फ मिंटू, युवा अध्यक्ष प्रशांत प्रजापति, राजकुमार प्रजापति, उपाध्यक्ष सतवीर सिंह राठौर एवं जिला नंदी गौशाला प्रभारी नेमचंद सैनी आदि शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *