प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर योजना के तहत मत्स्य पालकों को सब्सिडी पर मिलेगा ऋण: रेखा आर्य, पशुपालन राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार ने मंगलोर कृषि उत्पादन मंडी में किया मत्स्य बाजार का उद्घाटन

मंगलौर । कृषि उत्पादन मंडी परिसर में बनाए गए मत्स्य बाजार का उद्घाटन मंत्री रेखा आर्य ने किया। इस दौरान किसानों को मत्स्य बीज का वितरण किया गया। प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर योजना के तहत मत्स्य पालकों को सब्सिडी के आधार पर ऋण उपलब्ध करा उन्हें आत्मनिर्भर बनाने का काम किए जाने की घोषणा की गई। इसके लिए 164 करोड़ का बजट रखा गया है। राष्ट्रीय मत्स्य पालन दिवस पर मत्स्य बाजार का उद्घाटन करते हुए मंत्री रेखा आर्य ने कहा कि सरकार मत्स्य पालकों के लिए कई योजनाएं संचालित कर रही है। पहले जो तालाब उन्हें 10 वर्ष के लिए दिए जाते थे अब उनकी अवधि बढ़ाकर 29 वर्ष कर दी गई है। उन छोटे और मझोले किसानों के लिए अलग से व्यवस्था की गई है जो कि मत्स्य पालन के कार्य से जुड़े हैं। मंगलौर में बने इस नए बाजार में पूरे प्रदेश को जोड़ा जाएगा। ताकि यहां से बेहतर कारोबार हो सके। उन्होंने कहा कि मछली का उपयोग दवाइयां बनाने में भी किया जा रहा है। इसलिए मछली पालन एक अच्छा व्यवसाय उभर कर सामने आ रहा है। विभाग के संयुक्त निदेशक एसके पुरोहित ने कहा कि जिला प्रशासन के सहयोग से जिन तालाबों पर अतिक्रमण किया गया है उनसे अतिक्रमण हटाया जा रहा है।

उन्हें इस प्रकार से विकसित किया जा रहा है कि जो भी पानी उसमें रहेगा वह मत्स्य पालकों के काम आएगा। उन्होंने बताया कि 35 से 40 टन प्रति वर्ग हेक्टेयर मछली का उत्पादन इस समय किया जा रहा है। इसको बढ़ाए जाने का भी लक्ष्य है। आने वाले समय में मुर्गी पालन का कार्य भी विभाग द्वारा शुरू किया जाएगा। इसके लिए भी एक बड़ी मार्केट बनाने की योजना तैयार की जा रही है। इस अवसर झबरेड़ा विधायक देशराज कर्णवाल, मंडी समिति अध्यक्ष डॉ मधु सिंह, डॉ. गौरव चौधरी, विवेक चौधरी, नेपाल सिंह कश्यप, सुबोध शर्मा, राजपाल सिंह आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.