27 के बाद शुरू होगा शहरी विकास मंत्री का मुखर विरोध, संयोजक सुभाष सैनी ने कहा तीन वर्षों से मृतक आश्रितों को चक्कर कटवा रहे मंत्री, पीएम को पत्र लिखकर भी नहीं हुआ सरकार पर कोई असर

रुड़की । 3 वर्ष की अवधि काफी है किसी पीड़ित के लिए सरकार के मंत्री से गुहार लगाने की । लोजमो कोर कमेटी ने मुआवजा प्रकरण में शासकीय प्रवक्ता मदन कौशिक के खिलाफ मुखर विरोध के लिए युवा मोर्चा को हरी झंडी दे दी है। लोजमो संयोजक सुभाष सैनी ने बताया कि गत 3 वर्ष में रुड़की व भगवानपुर क्षेत्र में निर्मम हत्याओं की तीन घटनाओं में 6 की हत्या की गई जबकि एक मासूम बालिका के दोनों हाथ काट दिए गए। लोजमो के साथ अन्य संगठनों ने गरीब मृतक आश्रितों की गांव शेरपुर व गांव लाव्वा में दो बालिकाओं की शादी में भरपूर सहयोग किया जबकि दूसरी ओर शहरी विकास मंत्री शासकीय प्रवक्ता मदन कौशिक हैं कि मृतक आश्रितों के लिए तीन लाख व ढाई-ढाई लाख रुपए मुआवजे की घोषणा कर अखबारों में छपवा कर मुआवजा नहीं दे रहे हैं। मंत्री ने घोषणा खुद की। पैसा सरकार से आना है उनकी जेब से नहीं आना। 3 वर्ष से मंत्री मृतक आश्रितों को चक्कर कटवा कर भी मुआवजा नहीं दे रहे हैं और ना ही घोषणा को वापस ले रहे हैं । मोर्चा उन्हें लगातार याद कराता रहा है । मोर्चा ने 6 अगस्त 2020 को माननीय प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर उत्तराखंड सरकार से मुआवजा दिलाने की गुहार की लेकिन उत्तराखंड सरकार पर कोई असर नहीं। लोजमो कोर कमेटी ने युवा मोर्चा अध्यक्ष रविंद्र राणा व उनकी टीम को मंत्री जी के मुखर विरोध के लिए हरी झंडी दे दी है और घोषणा की है कि यदि 27 अगस्त 2020 तक शासकीय प्रवक्ता मदन कोशिक जी मृतक आश्रितों को घोषित मुआवजा नहीं देते या फिर अपनी घोषणा को वापस नहीं लेते तो इसके बाद मंत्री जी का मुखर विरोध युवा मोर्चा वार्ड-वार्ड, गांव-गांव करेगा इसके लिए वे स्वयं जिम्मेदार होंगे । जय युवा शक्ति की । “युवा शक्ति जागेगी, अन्याय की ताकत भागेगी”।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *