फॉरेस्ट गार्ड भर्ती परीक्षा में नकल कराने वाले मुकेश सैनी का निकला बड़ा नेटवर्क, पुलिस ने नकल कराने में शामिल रहे आठ और को गिरफ्तार कर जेल भेजा

रुड़की । फॉरेस्ट गार्ड भर्ती परीक्षा में नकल कराने के सरगना मुकेश सैनी का बड़ा नेटवर्क सामने आ रहा है। अनेकों युवक उनके नेटवर्क में शामिल रहे हैं। जिनमें से पुलिस ने आज 8 को गिरफ्तार कर जेल भेजा है। पुलिस टीवी में मुकेश सैनी समेत चार लोगों को इस मामले में पहले ही जेल भेज चुकी है जिसमें समीक्षा अधिकारी भी शामिल है जो कि निलंबित किया जा चुका है । सिविल लाइंस कोतवाली रूड़की में जानकारी देते हुए एसएसपी सेंथिल अबुदई ने बताया कि 16 फरवरी को अधीनस्थ चयन सेवा आयोग की ओर से फॉरेस्ट गार्ड भर्ती के लिए परीक्षा का आयोजन किया गया था। एक परीक्षार्थी ने परीक्षा में ब्लूटूथ से नकल करवाए जाने की शिकायत की गई थी। इसके बाद मंगलौर कोतवाली में दो कोचिंग संचालकों समेत आठ लोगों के खिलाफ़ मुकदमा दर्ज किया गया था। इस मामले में कोचिंग संचालक मुकेश सैनी और कुलदीप राठी समेत चार की गिरफ्तारी पहले ही हो चुकी है। वहीं इस मामले में मंगलौर पुलिस और सीआईयू ने आठ और लोगों को गिरफ्तार किया है। एसएसपी ने बताया कि इस मामले में रचित पुंडीर पुत्र कुलवीर सिंह पुंडीर निवासी खंजरपुर, दिशान्त धीमान पुत्र रविन्द्र कुमार निवासी खंजरपुर, राहुल पुत्र मित्रपाल निवासी डी कॉलोनी आईआईटी रुड़की और सन्दीप पुंडीर पुत्र कृष्णपाल पुंडीर निवासी खंजरपुर को एक कार समेत गिरफ्तार किया है। आरोपियों ने पूछताछ में खुलासा किया है कि परीक्षा से दस दिन पहले सभी ने एक प्लानिंग मुकेश सैनी के साथ मिलकर तैयार की थी। जिसमें मुकेश सैनी, सन्दीप, राहुल और दिशान्त सैनी ने प्री एक्टिवेट सिम खरीदे थे और सलेमपुर इंडस्ट्री के समीप एक कमरे में कुछ साथियों को नकल करवाने के लिए तैयार किया था। वहीँ बीएसएम इंटर कॉलेज स्थित परीक्षा केंद्र पर तैनात कक्ष निरीक्षक रचित पुंडीर ने पेपरों के सेट के फोटो खींचे और मुकेश सैनी को भेज दिए। और मुकेश सैनी ने प्रश्नों को हल कर विभिन्न परीक्षा केंद्रों में नकल करवाई। यही कार्य दूसरी पाली में आयोजित परीक्षा में भी किया गया ।इसके साथ ही फर्जी आईडी पर सिम उपलब्ध करवाने के आरोप में अवनीश अहमद पुत्र अहसान निवासी खंजरपुर, ज़ियाउल रहमान पुत्र मोहम्मद कामिल निवासी टांडा भनेड़ा मंगलौर, शाहिल पुत्र निर्दोष निवासी सुनहरा रोड, रजत गोयल पुत्र राजीव गोयल निवासी चावमण्डी को गिरफ्तार किया। आरोपियों के पास से एक कार, एक मोबाईल और एक मोबाईल का बिल बरामद हुआ। पुलिस टीम को डीआईजी गढ़वाल द्वारा 5000 और एसएसपी हरिद्वार द्वारा 2500 रुपए का पुरस्कार दिया गया है। आरोपियों को पकड़ने वाली टीम में पुलिस अधीक्षक देहात स्वप्न किशोर सिंह, प्रभारी निरीक्षक मंगलौर प्रदीप चौहान, एसएसआई लक्सर अभिनव शर्मा, एसएसआई मंगलौर देवेंद्र रावत, उप निरीक्षक मनोज नौटियाल, अशोक कुमार, कॉस्टेबल प्रभाकर और चालक दीपक नेगी शामिल रहे। सीआईयू टीम में उप निरीक्षक रविंद्र कुमार, हेड कांस्टेबल देवेंद्र भारती, कॉन्स्टेबल सुरेश रमोला, अशोक, महिपाल, जाकिर,नितिन, रविंद्र शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *