किसान महापंचायत में शामिल होने जा रहे किसानों और पुलिस में नारसन बोर्डर पर झड़प, बैरिकेडिंग हटाकर मुजफ्फरनगर की ओर कूच कर गए किसान

नारसन । भारतीय किसान यूनियन के आह्वान पर मुजफ्फरनगर में किसान महा पंचायत में शामिल होने जा रहे किसानों को पुलिस ने नारसन बॉर्डर पर रोकने की कोशिश की। इस दौरान किसानों की पुलिस से झड़प हो गई। किसान बैरिकेडिंग हटाकर मुजफ्फरनगर की ओर कूच कर गए। कृषि कानूनों की वापसी को लेकर गाजीपुर बॉर्डर धरने पर भाकियू के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने भावुक भाषण दिया था। इसके बाद से ही किसानों में उबाल आना शुरू हो गया था।भाकियू के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी नरेश टिकैत ने इस मसले पर शुक्रवार को मुजफ्फरनगर के राजकीय कॉलेज मैदान पर महा पंचायत करने की घोषणा की थी। इसके बाद जिले के किसान भी सक्रिय हो गए थे। जनपद के किसानों ने भी महा पंचायत में जाने की तैयारी शुरू कर दी। महापंचायत की घोषणा के बाद गुरुवार देर रात से किसानों ने यूपी की तरफ कूच करना शुरू कर दिया था। भाकियू के कई पदाधिकारी गुरुवार रात ही गाजीपुर बॉर्डर पहुंच गए थे।प्रशासन को जैसे इसकी जानकारी मिली तो नारसन बॉर्डर पर बड़ी संख्या में पुलिस बल की तैनाती कर दी गई। शुक्रवार को बीस-पच्चीस ट्रैक्टरों को साथ लेकर तीन सौ से अधिक किसान नारसन बॉर्डर पर पहुंच गए। वह मुजफ्फरनगर में होने वाली पंचायत में शामिल होने के लिए जा रहे थे। उन्हें रोकने के लिए पुलिस ने बैरिकेडिंग लगा दी।किसान यूपी जाने पर अड़े रहे। इसके बाद किसानों और पुलिस के बीच नोकझोंक होती रही। आखिर में किसान बैरिकेडिंग हटाकर यूपी की ओर कूच कर गए। भाकियू के नेता अरविंद राठी ने बताया कि हरिद्वार जनपद से भारी संख्या में किसानों ने मुजफ्फरनगर महापंचायत में शिरकत की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *