कानून नागरिकता लेने के लिए नहीं देने के लिए बना, शहर विधायक प्रदीप बत्रा ने कहा विपक्ष संशोधन कानून को लेकर फैला रहा है भ्रांति

रुड़की । नागरिकता संशोधन कानून को लेकर विपक्ष द्वारा फैलाई जा रही भ्रांति को दूर करने के लिए आज भाजपा पूर्वी मंडल और भाजपा सुभाष नगर मंडल की विभिन्न स्थानों पर बैठक हुई जिसमें मुख्य रुप से शहर विधायक प्रदीप बत्रा ने कहा है कि नागरिक संशोधन कानून नागरिकता लेने के लिए नहीं बल्कि देने के लिए बना है । उन्होंने बताया है कि भारत देश का नागरिक कौन है, इसकी परिभाषा के लिए साल 1955 में एक कानून बनाया गया जिसे ‘नागरिकता अधिनियम 1955’ नाम दिया गया। मोदी सरकार ने इसी कानून में संशोधन का प्रस्ताव किया है जिसे ‘नागरिकता संशोधन बिल 2016’ नाम दिया गया है. नागरिकता संशोधन बिल में अफगानिस्तान, बांग्लादेश और पाकिस्तान से आए हिंदू, सिख, ईसाई, पारसी, जैन और बौद्ध यानी कुल 6 समुदायों के लोगों को नागरिकता दी जाएगी। नागरिकता के लिए पिछले 11 सालों से भारत में रहना अनिवार्य है, लेकिन इन 6 समुदाय के लोगों को 5 साल रहने पर ही नागरिकता मिल जाएगी।इसके अलावा इन तीन देशों के 6 समुदायों के जो लोग 31 दिसंबर 2014 को या उससे पहले भारत आए हों,।उन्हें अवैध प्रवासी नहीं माना जाएगा। बैठक में भाजपा नेत्री अनु कक्कड़ ने नागरिक संशोधन कानून के बारे में विस्तार से जानकारी दी । बैठक में मुख्य रूप से भाजपा पूर्वी मंडल अध्यक्ष अभिषेक चंद्रा, भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष अश्वनी कोशिक भाजपा नेता धीर सिंह, आदेश सैनी, सतवीर सिंह, अंकुर मिनोचा आदि काफी कार्यकर्ता मौजूद रहे। इसके अलावा नागरिक संशोधन बिल को लेकर सुभाष नगर मंडल की एक आवश्यक बैठक वासुदेव लाल मैथिल सरस्वती विद्या मंदिर हरिद्वार रोड बेलड़ी में आयोजित की गई । बैठक में भाजपा मंडल अध्यक्ष प्रशांत पोसवाल, मंडल प्रभारी अजीत सिंह, भाजपा के वरिष्ठ नेता जय भगवान सैनी, अजय सैनी ,वसीम अहमद, सेवा राम ,बाबू सैनी, विनोद कुमार, रामतीर्थ पांडे ,मदन ,एहसान अली ,राजेंद्र कुमार,अजय प्रताप सिंह ,अंकित सैनी ,गीता रानी, कमला कैंथोला, प्रतिभा चौहान आशा धस्माना ,प्रभा भट्ट आदि भाजपा के वरिष्ठ कार्यकर्ता उपस्थित रहे। वहीं दूसरी ओर गुरुवार को शेखपुरी में भाजपा के खानपुर मंडल की कार्यशाला आयोजित की गई थी। कार्यशाला में पार्टी जिलाध्यक्ष डॉ. जयपाल सिंह चौहान ने बूथ अध्यक्षों के बारे में जानकारी ली तो पता चला कि 82 में से 16 बूथ अध्यक्ष ही मौजूद हैं। 9 शक्ति केंद्रों में से चार के ही संयोजक कार्यशाला में पहुंचे। जिलाध्यक्ष ने इस पर कड़ी नाराजगी जताते हुए कहा कि जिन्हें गोष्ठियों का आयोजन करना है, उनका कार्यशाला में मौजूद न होना गंभीर बात है। उन्होंने खानपुर मंडल अध्यक्ष को कार्यशाला का आयोजन दोबारा से करने को कहा। सीएए के बारे में उन्होंने कहा कि भारतीय चाहे किसी भी धर्म या संप्रदाय का हो, उसे सीएए से कोई नुकसान नहीं होगा। आरोप लगाया कि कांग्रेस, सपा, बसपा, ममता और ओवैसी इसे लेकर वर्ग विशेष को गुमराह कर रहे हैं। खानपुर मंडल के प्रभारी ऋषिपाल बालियान ने कहा कि विरोधी दल वोटों की खातिर लोगों को उकसाकर माहौल खराब करने का प्रयास कर रहे हैं। कार्यशाला में सुभाष सैनी, साधुराम वर्मा, चरण सिंह, मैनपाल सिंह, हर्षप्रताप, डॉ. रामकुमार आर्य, आदत्यि चौधरी, प्रमोद शर्मा, रोहताश चौधरी, बिजेंद्र सैनी, राजशेखर, सुनील सैनी आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *