शराब तस्करी में पकड़े गए शख्स के भाई से मांगी थी रिश्वत, चौकी इंचार्ज और कांस्टेबल निलंबित, शिकायतकर्ता ने बातचीत का ऑडियो डीजीपी को भेजा था

देहरादून । फोन पर एक लाख रुपये की रिश्वत की मांग करने वाले चौकी प्रभारी धर्मावाला एसआइ दीपक मैठाणी व कांस्टेबल त्रेपन सिंह को पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने निलंबित कर दिया है। शिकायतकर्त्ता की ओर से डीजीपी को फोन पर बातचीत का आडियो भी उपलब्ध करवाया गया है। पुलिस की मानें तो एक अक्टूबर को चौकी इंचार्ज दीपक मैठाणी ने 30 पेटी हरियाणा मार्का शराब के साथ तस्कर राकेश निवासी करनाल और प्रदीप निवासी बुटाना, हरियाणा को गिरफ्तार कर जेल भेजा था। पुलिस ने शराब तस्करी में एक कार भी सीज की थी। आरोप है कि जमानत पर बाहर आने के बाद चौकी इंचार्ज ने आरोपित राकेश के भाई को फोन करके एक लाख रुपये रिश्वत की मांग की। मंगलवार को राकेश शिकायत लेकर पुलिस महानिदेशक के पास पहुंचा। उसने आरोप लगाया कि चौकी इंचार्ज व कांस्टेबल ने उनके खिलाफ फर्जी मुकदमा दर्ज किया और मारपीट की। साथ ही उसके बड़े भाई को फोन करके एक लाख रुपये की मांग की। इस दौरान राकेश सिंह ने चौकी इंचार्ज का एक आडियो भी प्रस्तुत किया, जिसमें चौकी प्रभारी व कांस्टेबल की भूमिका संदिग्ध लग रही थी। शिकायत का संज्ञान लेते हुए डीजीपी ने चौकी प्रभारी धर्मावाला व कांस्टेबल को तत्काल प्रभाव से निलंबित करने के आदेश और मामले की जांच राजपत्रित अधिकारी से कराने के लिए डीआइजी को निर्देशित किया। पुलिस महानिदेशक की ओर से दीपक मैठाणी को निलंबित करने के आदेश जारी होने के बाद देर शाम डीआइजी ने गड़बड़ी करने वाले पुलिसकर्मियों को चेतावनी जारी की। इसके साथ ही कविंदर राणा को धर्मावाला चौकी इंचार्ज बना दिया है। कविंदर राणा सेलाकुई थाने में तैनात थे। इसके अलावा एसआइ हेमंत खंडूडी को पुलिस लाइन से एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग सेल और एसआइ दीपक द्विवेदी को पुलिस लाइन से कोतवाली, विकासनगर भेजा गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *