पंचायत प्रतिनिधियों ने कंपनियों का दूषित पानी खुले में बहने पर चिंता जताई, सुराज दिवस के उपलक्ष्य में ग्राम पंचायत किशनपुर जमालपुर में चौपाल का आयोजन

भगवानपुर । सुराज दिवस के उपलक्ष्य में ग्राम पंचायत किशनपुर जमालपुर में चौपाल का आयोजन किया गया। चौपाल में पहुंचे अधिकारियों ने ग्रामवासियों के साथ स्वास्थ्य, शिक्षा, पेयजल, पर्यावरण, स्वच्छता जैसे मुद्दों पर चर्चा की। ग्राम प्रधान प्रवीन बानो की अध्यक्षता में आयोजित चौपाल में मूलभूत सुविधाओं पर चर्चा करते हुए ग्रामवासियों ने बताया कि गांव क्षेत्र में स्थित कम्पनियों में ट्रीटमेंट प्लांट क्षमता के मुताबिक नही है, जिस कारण कम्पनियां दूषित पानी खुले में बहा देती हैं, यही वजह है गांव का पानी पीने योग्य नही रहा है। इसी कारण पर्यावरण भी प्रदूषित हो रहा है। जिसके चलते गांव में बीमारियां बढ़ रही है। स्वच्छता को लेकर ग्रामीणों ने कहा कि कूड़ा निस्तारण को गांव में रिसाइक्लिंग प्लांट लगाया जाए, स्वच्छ अभियान के तहत जागरुकता और सख्ती के साथ ही सरकार सफाई कर्मचारी नियुक्त करे, गांव से स्वच्छता टैक्स वसूली से स्वच्छ अभियान सफल नही हो सकता है। पानी निकासी को लेकर ग्रामीणों ने बताया कि एनआईएच ने नाला निर्माण अधूरा छोड़ रखा है, जिस कारण गांव में जलभराव की समस्या रहती है, पानी निकासी को नाला निर्माण ज़रूरी है, नाला नही होने से गांव में जयभारत जूनियर हाईस्कूल में लगातार गन्दा पानी जामा है, जहां पढ़ने वाले बच्चे बीमार हो रहे हैं। गांव में खेल मैदान पर अतिक्रमण है, गंदगी होने से बच्चे खेल नही पाते है। खेल मैदान का सौंदर्यीकरण ज़रूरी है। सीएचसी केंद्र के अलावा गांव में आयुष्मान सेंटर भी है, लेकिन दोनों ही केन्द्रों के सामने गन्दगी के अंबार लगे हैं। गन्दगी के कारण चिकित्सक वहां नही बैठ सकते है, इस वजह से गांव वासियों को चिकित्सकीय लाभ नही मिल रहा है। गांव वासियों ने बताया कि गांव में लेखपाल पिछले 8 माह से नही है, न तो विरासत दर्ज हो रही है, न ही दाखिल खारिज हो रहे है, भूमि विवाद बढ़ते जा रहे हैं, सरकारी भूमि पर कब्जे हो रहे हैं। ग्राम प्रधान ने बताया कि लेखपाल नही होने से भूमि शिकायतें बढ़ रही हैं। चौपाल में ग्राम सभा की आय बढाने व रोजगार के अलावा महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने पर चर्चा की गई। आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं, आशाओं ने भी अपनी-अपनी समस्या से अवगत कराया। चौपाल में मुख्य रूप से डी. एस.टी.ओ नलिनी ध्यानि, पशुपालन विभाग से नंदकिशोर, गन्ना विभाग से गम्भीर सिंह, बाल विकास विभाग से उर्मिला सहगल, तहसील से अरविंद चौधरी, सेक्रेटरी विनोद कुमार गुप्ता व गांव के कई दर्जन ग्रामीण मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *