जनता मिलन कार्यक्रम में आई 19 शिकायतें, जिलाधिकारी सी. रविशंकर ने एक सप्ताह के अन्दर शिकायतों का निस्तारण करने के दिए निर्देश

हरिद्वार । जिलाधिकारी हरिद्वार सी. रविशंकर की अध्यक्षता एवं मुख्य विकास अधिकारी हरिद्वार विनीत तोमर की उपस्थिति में कलेक्ट्रेट सभागार रोशनाबाद में जनता मिलन का आयोजन किया गया। जनता मिलन में कुल 19 शिकायतें प्राप्त हुई। शिकायतों को संबंधित अधिकारियों को प्रेषित करते हुए जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि एक सप्ताह के अन्दर शिकायतों का निस्तारण हो जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि आज प्राप्त शिकायतों में से यदि अगले जनता मिलन में कोई शिकायत पुनः प्राप्त होती है, तो माना जाएगा कि संबंधित अधिकारी द्वारा शिकायत निस्तारण में लापरवाही बरती गयी, तथा उसके खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी।
जिलाधिकारी ने कहा कि चाहे जनता मिलन में आई शिकायत हो अथवा सीएम हेल्पलाइन पर, अधिकारी प्राप्त शिकायतों की समीक्षा करें और त्वरित निस्तारण करें। शिकायतों के प्रति अधिकारियों द्वारा त्वरित रिस्पोंस होना चाहिए ताकि शिकायतकत्र्ता को लगे कि अधिकारियों द्वारा उनकी शिकायतों को गम्भीरता से लिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जनता दरबार में पुरानी प्राप्त शिकायत दोबारा आने पर आवेदन पत्र में पुरानी पंजीयन संख्या ही डाली जाए, जिससे यह पता चल सके कि शिकायत का निस्तारण पूर्व में नहीं हुआ है। जनता मिलन में अधिकांश शिकायतें बिजली, शिक्षा, आर्थिक सहायता, रास्ते की समस्या, पेंशन, पुलिस विभाग आदि से संबंधित रहीं। सिकन्दर गाडोवाली से वीरेन्द्र कुमार, रवि कुमार आदि ने बिजली की समस्या से अवगत कराया, जिस पर जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारियों को तत्काल समस्या के निस्तारण के आदेश दिए। सुभाषनगर ज्वालापुर निवासी कु0 वर्षा द्वारा झूठे मुकदमें में फंसाने, धीर सिंह अम्बुवाला ने मकान बनाने हेतु आर्थिक सहायता दिलाने, निशा बडेडी द्वारा शौचालय निर्माण हेतु, गोपाल शर्मा ज्वालापुर द्वारा घर के सामने वाहनों के खडे़ रहने आदि की शिकायत की गयी। जनता मिलन में मदन द्वारा अपनी पारिवारिक/आर्थिक स्थिति के दृष्टिगत आर्थिक सहायता दिलाने का निवेदन किया जिस पर मुख्य शिक्षा अधिकारी श्री आनन्द भारद्वाज द्वारा व्यक्तिगत रूप से आर्थिक सहायता की पेशकश पर जिलाधिकारी ने प्रसन्नता जाहिर की। साथ ही जिलाधिकारी ने जनता दरबार में आने वाले आर्थिक सहायता के प्रकरणों के दृष्टिगत आदर्श एवं विकास कल्याण समिति का गठन करने के निर्देश दिये। समिति में समस्त जनपद स्तरीय अधिकारी, औद्योगिक संस्थानों, स्वयं सेवी सस्थाओं आदि को सदस्य बनाया जाएगा। समिति के सदस्य तथा कोई भी नागरिक स्वेच्छा से कितनी भी धनराशि का अंशदान कर सकता है, जिससे असहाय, गरीब तथा वंचितों की मदद की जाएगी। जनता मिलन में समस्त जनपद स्तरीय अधिकारीगण उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *