केंद्र सरकार की गाइडलाइन के अनुसार खोले गए मठ मंदिर, श्रीमहंत रविन्द्रपुरी महाराज ने मां की आरती कर विश्व कल्याण की कामना की, मां मंशा देवी का विशेष श्रंगार कर लगाया 56 प्रकार का भोग

हरिद्वार । केंद्र सरकार के मठ मंदिर खोले जाने के फैसले के बाद प्रातःकाल में मां मंशा देवी मंदिर पूर्ण विधि विधान के साथ खोला गया। मंदिर खुलने पर मां मंशा देवी मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष श्रीमहंत रविन्द्रपुरी महाराज ने मां की आरती कर विश्व कल्याण की कामना की। इस दौरान मां मंशा देवी का विशेष श्रंगार कर छप्पन प्रकार का भोग लगाया गया। श्रीमहंत रविन्द्रपुरी महाराज ने कहा कि भारत ऋषि मुनियों की तपस्थली है और मठ मंदिर हमारी आस्था का केंद्र बिन्दु है। मठ मंदिर खोले जाने पर हरिद्वार के संतो व सनातन प्रेमियों में हर्ष का माहौल है। परंतु सतर्कता ही बचाव है। सभी को सरकार के नियमों का पालन करते हुए सोशल डिस्टेंसिंग के साथ मंदिरों में दर्शन करने होंगे। नियमों के अनुरूप मंशा देवी मंदिर में सोशल डिस्टेंसिंग, थर्मल स्क्रीनिंग तथा सेनेटाइजिंग की व्यवस्था की गयी है। थर्मल स्क्रीनिंग तथा सेनेटाइजिंग मशीन से गुजरने के पश्चात सोशल डिस्टेंस के साथ ही श्रद्धालुओं को मंदिर में दर्शन करने दिए जाएंगे। श्रीमहंत रविन्दुपुरी महाराज ने कहा कि सरकार को अब देश की सीमाओं पर स्थित बार्डर खोल देने चाहिए। पूर्ण रूप से आवागमन होने के बाद ही धार्मिक स्थलों को आर्थिक लाभ प्राप्त होगा। धर्मनगरी हरिद्वार सहित पूरे उत्तराखण्ड की अर्थव्यवस्था पर्यटन पर आधारित है। ऐसे में जब श्रद्धालुओं का आगमन ही नहीं होगा तो मठ मंदिर खोला जाना व्यर्थ है। श्रीमहंत रविन्द्रपुरी महाराज ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करते हुए कहा कि मां मंशा देवी व गंगा मैय्या की कृपा से वे शीघ्र स्वस्थ होकर जनता की सेवा करेंगे। इस अवसर पर मां मंशा देवी मंदिर के ट्रस्टी प्रदीप शर्मा, अनिल शर्मा, मंदिर के मुख्य पुजारी पंडित सुरेश तिवारी, पंडित गणेश शर्मा,
एसएमजेएन कालेज के प्राचार्य डा.सुनील कुमार बत्रा, प्रतीक सूरी आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *