रामपुर में हुई हत्या का पुलिस ने किया खुलासा, फायरिंग के आरोप में पुलिस ने चार आरोपियों को गिरफ्तार किया, तमंचा, दो मोटरसाइकिल बरामद

रुड़की । रामपुर में हुई हत्या के मामले का पुलिस ने खुलासा कर दिया। फायरिंग के आरोप में पुलिस ने चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है और घटना में इस्तेमाल किया गया तमंचा और दो मोटरसाइकिल बरामद की है। मृतक तांत्रिक विद्या का काम करता था और आरोपियों ने उससे ताबीज बनवाया था ताबीज के उल्टा काम करने पर गुस्साए आरोपी युवक में साथियों के साथ किसान को गोली मार दी। रुड़की गंगनहर कोतवाली में घटना का खुलासा करते हुए हरिद्वार एसएसपी डी सैंथिल अबुधई कृष्ण राज एस ने बताया कि 16 जनवरी की शाम रामपुर में इरफान पुत्र हमीद निवासी रामपुर कोतवाली गंगनहर को दो अज्ञात मोटरसाइकिल सवार द्वारा मस्जिद में नमाज पढ़ कर लौटते समय गोली मार दी थी जिसकी देर रात उपचार के दौरान मौत हो गई। मामले खुलासे के लिए टीम का गठन किया गया जिन्होंने आसपास सीसीटीवी फुटेज चेक की और परिवार के लोगों से गहनता से पूछताछ की गई पूछताछ में जानकारी प्राप्त हुई थी इरफान तांत्रिक का कार्य करता था और घटना से दो-चार दिन पूर्व घायल इरफान की दो लड़कों राहुल पुत्र नेत्रपाल निवासी हरचंदपुर माजरा वाह विशाल पुत्र वीर सिंह निवासी इकबालपुर के साथ घर पर ही बहस हो गई थी। इसके बाद पुलिस टीम द्वारा संदिग्ध राहुल व विशाल की तलाश शुरू की गई। मुखबिर की सूचना के आधार पर राहुल पुत्र नेत्रपाल निवासी हरचंदपुर माजरा जिला हरिद्वार व विशाल पुत्र वीर सिंह निवासी इकबालपुर को बंदा खेड़ी फैक्ट्री एरिया से गिरफ्तार कर पुलिस ने पूछताछ की। तो उन्होंने घटना को अंजाम देना स्वीकार किया उन्होंने बताया कि वह कई बार इरफान को को पैसे देकर लड़कियों में को बस में करवाने के संबंध में टोटके आदि करवाएं जिससे उन्हें कोई फायदा नहीं हुआ। युवकों ने बताया कि इरफान ने किसी और के कहने पर उन्हें बर्बाद करने के लिए जादू टोना टोटका किया। जिसके कारण उनके परिवार पर असर होने लगा आर्थिक व शारीरिक स्थिति प्रभावित हो गई। आरोपी ने बताया कि उन्होंने इरफान को कई बार टोटका हटाने के लिए कहा। तो इरफान ने गाली गलौज देते हुए कहा कि इसका असर कम नहीं करेगा। आरोप लगाया कि इरफान ने विशाल को लात भी मारी। आरोपी ने बताया कि जिस लड़की को विशाल द्वारा हासिल करने के लिए टोटका इरफान से बनवाया था उसका उल्टा असर हो गया जिससे कारण वह लड़की विशाल से नफरत करने लगी। वही राहुल के पिता नेत्रपाल की भी 25 दिसंबर को मृत्यु हो गयी। इस सब का कारण उन्होंने इरफान को माना और उससे बदला लेने के लिए गौरव पुत्र बाबू कश्यप निवासी ग्राम जड़ौदा जट और आकाश कुमार पुत्र पवन कश्यप निवासी सुन्हेटी थाना झबरेड़ा के साथ मिलकर 16 जनवरी की रात को इरफान को गोली मार दी। पुलिस ने चारों आरोपियों को गिरफ्तार किया और घटना में इस्तेमाल की गई दोनों मोटरसाइकिल और तमंचा पुलिस द्वारा बरामद किया गया।
आरोपियों को गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम में गंगनहर कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक मनोज मेनवाल, वरिष्ठ उप निरीक्षक देवराज शर्मा, उप निरीक्षक प्रमोद कुमार, धर्मेंद्र राठी, अजय साह, नवीन पुरोहित, कांस्टेबल बबलू,बृजपाल, संदीप, रणवीर, वीरेंद्र, चेतन, सीआईयू टीम के एचसीपी एहसान अली, कांस्टेबल अशोक कुमार, महिपाल सिंह, नितिन, सुरेश रमोला शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *