भाजपा में चल रही राजनीतिक नौटंकी ने सरकार व पार्टी दोनों की पोल को खोल दी: रश्मि चौधरी

रुड़की । महिला कांग्रेस की जिलाध्यक्ष एवं किसान कांग्रेस की प्रवक्ता रश्मि चौधरी ने कहा हैं कि असल में बीजेपी के सामने उपचुनाव में मुख्यमंत्री की हार का डर एक बड़ा राजनीतिक संकट था। इसका असर 2022 के चुनावों पर भी सीधा पड़ सकता था। 2022 के चुनाव से ठीक पहले अगर मुख्यमंत्री खुद चुनाव हार जाते तो अगले चुनावों के लिए भाजपा का रास्ता बेहद मुश्किल हो जाता। भाजपा का हार का डर जगजाहिर हो गया है। उन्होंने कहा कि भाजपा में चल रही राजनीतिक नौटंकी ने सरकार व पार्टी दोनों की पोल को खोल कर रख दिया है। भ्रष्टाचार के कई आरोप भाजपा सरकार पर लग चुके हैं। राज्य के लोगों में जबरदस्त असंतोष के कारण भाजपा चुनाव लड़ने की स्थिति में नहीं है। कहा कि चार माह बाद दूसरा मुख्यमंत्री बदलने से भाजपा भ्रष्टाचार के आरोपों से मुक्त नहीं हो सकती है। भाजपा के पास ऐसा कोई मुद्दा नहीं जिसके बूते वह जनता के बीच जाकर जनादेश मांग सके। बहुमत में होने के बाद भी भाजपा की अंदरूनी लड़ाई के कारण राज्य को राजनीतिक अस्थिरता की ओर ले जाया गया है। महंगाई व रोजगार के मोर्चे पर विफल सरकार के पास चुनाव लड़ने के लिए अब कुछ नहीं बचा है। मुख्यमंत्री का चेहरा बदलने से कुछ नहीं होगा। भाजपा की कथनी व करनी सब सामने आ गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.