प्राथमिक शिक्षकों ने मांगों को लेकर मार्च निकाला, प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन जिलाधिकारी दीपेंद्र चौधरी को सौंपा

हरिद्वार । उत्तराखंड राज्य प्राथमिक शिक्षक संघ ने पांच सूत्रीय मांगों को लेकर जिलाधिकारी कार्यालय तक मार्च निकाला। संघ ने प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन जिलाधिकारी दीपेंद्र चौधरी को सौंपा। लंबित चली आ रही मांगों को शीघ्र पूरा करने की मांग उठाई गई। ऐसा नहीं करने पर आंदोलन की चेतावनी दी। बुधवार को उत्तराखंड राज्य प्राथमिक शिक्षक संघ के बैनर तले जनपद भर के करीब दो हजार शिक्षक सामूहिक अवकाश लेकर जटवाड़ा पुल पर एकत्र हुए। यहां से आर्य नगर चौक, शंकर आश्रम चौक, रानीपुर मोड़, भगत सिंह चौक से बीएचईएल और चिन्मय चौक से होते हुए अपने वाहनों से रोशनाबाद जिलाधिकारी कार्यालय पर पहुंचे। यहां जिलाधिकारी के माध्यम से प्रधानमंत्री को मांग एक ज्ञापन भेजा। जिलाध्यक्ष अशोक चौहान ने कहा कि पुरानी पेंशन योजना बहाल करने और नई शिक्षा नीति में प्रारंभिक शिक्षा का सुदृढ़ीकरण आदि लंबित मांगों को लेकर लगातार शिक्षक आवाज बुलंद करते आ रहे हैं। संबंधित अधिकारी से लेकर मुख्यमंत्री तक मांग पत्र भेजे जा चुके हैं। लेकिन उसके बाद भी मांगों पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। कहा कि यदि जल्द ही मांगों पर कोई विचार नहीं किया गया तो सभी शिक्षक उग्र आंदोलन करने को बाध्य होंगे। जिला मंत्री जितेंद्र चौधरी ने बताया कि पुरानी पेंशन योजना की बहाली, सातवें केंद्रीय वेतन आयोग की अनुशंसा में संशोधन, राष्ट्रीय शिक्षा नीति से शिक्षक विरोधी प्रधानों को हटाते हुए प्रारंभिक शिक्षा के सुदृढ़ीकरण को सुनिश्चित किया जाए। शिक्षक पात्रता परीक्षा शिक्षकों के व्यावसायिक प्रशिक्षण लेने से पूर्व आयोजित किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि जल्द ही अगले कदम को लेकर रणनीति तय की जाएगी। शिक्षक अपने हक के लिए लड़ाई लड़ने से पीछे नहीं हटेंगे। ब्लॉक मंत्री अजय चंद वर्मा ने कहा कि काफी लंबे समय से प्राथमिक शिक्षक अपनी मांगों के लिए अधिकारियों के चक्कर लगा रहे हैं। लेकिन कोई भी शिक्षकों की मांगों को लेकर गंभीर नहीं है। उन्होंने कहा कि अब शिक्षक अपने हक के लिए आर-पार की लड़ाई लड़ेंगे। इस दौरान वरिष्ठ उपाध्यक्ष आशीष कुमार, जिला कोषाध्यक्ष विनय कुमार, ब्लॉक अध्यक्ष मनोज चौहान, कामनी शर्मा, मनमोहन शर्मा, पंकज बिश्नोई, तौहिद अहमद, मुकेश चौहान, अनिल, धीर सिंह पंवार, ललित, जितेंद्र सिंह, अनवार अहमद, मो. फैय्याद, शशि श्रीवास्तव, अश्विनी, कविता धीमान, बीना बिष्ट, अनिता यादव, प्रवीण कपिल आदि शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.