भगवानपुर के मक्खनपुर गांव में परिवार सर्वेक्षण के लिए गई स्वास्थ्य विभाग की टीम के साथ धक्का-मुक्की, अभिलेख फाड़ने का आरोप

भगवानपुर । मक्खनपुर गांव में परिवार सर्वेक्षण के लिए गई स्वास्थ्य विभाग की टीम ने ग्रामीणों पर धक्का मुक्की करने और अभिलेख फाड़ने का आरोप लगाया है। मामले को लेकर पुलिस को तहरीर दी गयी। पुलिस मामले की जांच में जुटी है। थाना क्षेत्र के मानक मजरा गांव में करोना पॉजिटिव मरीज पाए गए थे। जिस पर स्वास्थ्य विभाग ने इस गांव के आसपास 4 किलोमीटर के दायरे में बारीकी से सर्वेक्षण कराना शुरू के दिया है। इस सर्वेक्षण में सभी घरों की तमाम जानकारी ली जा रही है। जिसे लेकर सोमवार दोपहर डॉ अंजू चौहान के नेतृत्व में एक स्वास्थ्य विभाग की टीम मक्खनपुर गांव में एक ग्रामीण के घर पहुंची। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने परिवार की महिलाओं से जरूरी जानकारियां लेनी शुरू की कर दी। जिसमे परिवार के सदस्यों के नाम लिखे गए बाद में कुछ जानकारियों को लेकर टीम व ग्रामीण महिलाओं के बीच मतभेद होना शुरू हो गया। आरोप है कि परिवार की एक महिला घर के अंदर से पेन लेकर आई और अभद्रता करते हुए रजिस्टर में लिखे नाम काट दिए और छीना झपटी शुरू कर दी। स्वास्थय विभाग की टीम के अनुसार आरोपी पक्ष की महिला ने उन्हें चारों तरफ से घेर लिया और अभिलेख फाड़ दिए गए। छीना झपटी के दौरान टीम में शामिल आंगनवाडी कार्यकत्री के चोटिल भी हुई। तभी सूचना पाकर भगवानपुर पुलिस कुछ देर बाद मौके पर पहुंची तब तक आरोपी पक्ष इधर-उधर जा चुके थे। टीम के लोगों ने घटना की जानकारी उच्च अधिकारियों को दे दी गई है साथ ही पुलिस को भी तहरीर दी गई है। स्वास्थ्य विभाग की टीम का नेतृत्व कर रही डॉ अंजू चौहान ने बताया कि सर्वेक्षण करते समय जानकारी देने में परिवार की महिलाएं विरोध कर रही थी। जबरन अभिलेख भी फाड़ दिए गए जिसकी सूचना विभाग के अधिकारियों व पुलिस को दे दी गई है। भगवानपुर थाना प्रभारी संजीव थपलियाल ने बताया कि तहरीर मिलनेे पर मामले में मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *