कांग्रेस राष्ट्रीय सचिव इशिता सेढा ने भाजयुमो प्रदेश अध्यक्ष पर कसा तंज, दी नसीहत, कहा स्लोगन की बजाय युवाओं की खाली जेब में पैसे डालें सरकार

देहरादून । भारतीय यूथ कांग्रेस की राष्ट्रीय सचिव इशिता सेढा ने भाजपा युवा मोर्चा उत्तराखंड के प्रदेश अध्यक्ष कुंदन लटवाल को लिखे पत्र में कहा कि सोशल मीडिया पर प्रचारित कुछ फोटोज और मीडिया के माध्यम से पता चला कि उनके कार्यकर्ताओं द्वारा कोरोना महामारी से बचाव के लिए जागरुक करने के लिए सार्वजनिक स्थलों, मार्गों पर पेंटिंग्स बनाने का कार्य किया जा रहा है। जिसका लगभग 90 प्रतिशत लॉक डाउन खुलने के बाद कोई औचित्य नहीं रह गया है। प्रदेश अध्यक्ष को लिखे पत्र में इशिता सेढा ने कहा कि उत्तराखंड राज्य में आपकी पार्टी सत्तारुढ पार्टी है, इसलिए मैं आपसे पूछना चाहती हूं कि आप के आदेश के बाद सार्वजनिक मार्गों व स्थलों पर जो फोटोज व पेंटिंग्स बनाई जा रही है, क्या इसका कोई औचित्य बनता है, या सिर्फ जनता को मूर्ख बनाकर उनको ठगने का कार्य किया जा रहा है। आगे इशिता सेढ़ा ने आरोप लगाया कि लोगों को ठगने का भाजपा द्वारा मूल मंत्र बन गया है जो की ऊपर से नीचे तक चल रहा है। इशिता सेढा ने पत्र में प्रदेश अध्यक्ष को नसीहत देते हुए कहा कि एक तरफ आपके साथियों द्वारा सड़कों पर ‘स्टे होम, स्टे सेफ’ जैसे स्लोगन लिखें जा रहे हैं, वहीं दूसरी ओर आप ही कि सरकार द्वारा लॉक डाउन को लगभग 90 प्रतिशत तक खोला जा चुका है। आपके सड़कों पर लिखे स्लोगन एकदम बिल्कुल सरकार के फैसले के उलट हैं, इशिता सेढ़ा ने प्रश्न किया कि क्या युवा मोर्चा सरकार के फैसले के पक्ष में नहीं है ओर अगर हैं तो फिर इस भोली-भाली जनता को अपनी दोहरी नीति से मूर्ख बनाना बंद करे। इशिता सेढा ने लिखे पत्र में प्रदेश अध्यक्ष कुंदन लटवाल से मांग करते हुए कहा कि आप ऐसे संगठन के पदाधिकारी हैं जो कि केंद्र से लेकर राज्य तक सत्तारुढ़ पार्टी है इसलिए अपने दूसरे ‘आत्मनिर्भर’ जैसे स्लोगन, जो कि महज दिखने में आकर्षित लगते हैं को छोड़कर अपनी जिम्मेदारी पर ध्यान दीजिये और पूरे देश में युवा कांग्रेस राहुल गांधी जी के आहवान पर देश के वर्तमान हालात को देखते हुए, जो न्याय योजना की मांग जरुरतमंदांे के लिए की जा रही है, उसको अपने संगठन के भीतर उठाकर जरुरतमंद युवाओं की खाली पड़ी जेबों में कुछ पैसे डालें, ताकि वो भी अपनी जीविका को चला सकें। उन्होंने कहा कि यदि आप सच में उत्तराखंड को आत्मनिर्भर बनता देखना चाहते हैं तो नई रोजगार नीति बनाकर अपनी सरकार को उस पर चलने के लिए निर्देशित कीजिए। ताकि प्रदेश के साथ देश का भी कल्याण हो सके। उन्होंने कहा कि खाली स्लोगन या सड़कों पर फोटो लगाने से किसी भूखे का पेट नहीं भरता कुछ ऐसा करें जिससे कि इस दुख की घड़ी में परेशान लोगों को थोड़ी राहत मिल सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *