उत्तराखंड में बारिश का कहर, चमोली में फटा बादल, पिथौरागढ़ में मलबे में दबा गांव, एक महिला की मौत, एक लापता, बीआरओ का पुल बहा, 100 से अधिक गावों का मुख्यालय से कटा संपर्क

देहरादून । उत्तराखंड के पिथौरागढ़ और चमोली जिले में सोमवार रात हुई भारी बारिश से बर्बादी का आलम पसर गया है। यहां कई घर मलबे में दफन हो गए हैं। बीआरओ का पुल टूट गया है। कई घरों में बरसात का पानी घुस गया है। जीबली गांव में एक महिला लापता बताई जा रही है। वहीं चमोली जिले में सोमवार तड़के बादलों ने खूब कहर मचाया है। इसी तरह चमोली में बादल फटने से एक घर मलबे की चपेट में आ गया। हादसे में एक महिला की मौत हुई है और एक बच्ची घायल है। इसके अलावा मवेशियों को भी नुकसान पहुुंचा है।धारचूला मुनस्यारी में बारिश ने तबाही मचाई है। यहां बीआरओ का पुल बह गया है। 100 से अधिक गावों का मुख्यालय से संपर्क कट गया है। जराजीबली, गलाती, बरम सहित कई गावों में पानी घुसने से लोगों में दहशत है। चमोली के घाट ब्लॉक के पडेर गांव के तिमदो थोक में बादल फटने से घर में मलबा और पानी घुसने से एक महिला की मौत हो गयी और एक बच्ची घायल है। चमोली जिले में देर रात से हो रही भारी बारिश मंगलवार को सुबह आठ बजे थमी। पडेर गांव में तड़के तीन बजे बादल फटने से रघुवीर सिंह का मकान मलबे की चपेट में आ गया। इस दौरान घर में चार सदस्य सो रहे थे, जिसमें से देवेश्वरी देवी मलबे में दब गई और 12 वर्षीय प्रीता घायल हो गयी। ग्रामीणों ने घायल बच्ची को अस्पताल पहुंचाया और मृतका के शव को मलबे से निकाला। ग्राम प्रधान पुष्कर सिंह ने बताया कि गांव में इसके अलावा मवेशियों को और अन्य नुकसान भी हुआ है, जिसकी सूचना प्रशासन को दी गयी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *