कैण्टीनों आदि में-अच्छी गुणवत्ता एवं ताजी सामग्री का प्रयोग हो: डीएम

हरिद्वार । जिलाधिकारी विनय शंकर पाण्डेय की अध्यक्षता में बृहस्पतिवार को कलक्ट्रेट सभागार में ’’सुरक्षित भोजन एवं स्वस्थ आहार’’ सलाहकार समिति की बैठक आयोजित हुई। बैठक में सुरक्षित भोजन एवं स्वस्थ आहार के सम्बन्ध में खाद्य कारोबार से सम्बन्धित खाद्य कारोबारकर्ताओं/विभिन्न क्षेत्रों में भोजन निर्माण में कार्यरत रसोईयों आदि को सुरक्षित भोजन एवं स्वस्थ आहार का प्रशिक्षण दिया जाना, होटल एवं रेस्टोरेन्ट की हाईजीन रेटिंग किया जाना, व्यापार संघ के सहयोग से लाईसेन्स/रजिस्ट्रेशन मेले का आयोजन, ईट राइट स्कूल के अधीन दो स्कूलों को ईट राइट स्कूल के रूप में विकसित किया जाना, संस्थानों/कैन्टीनों को ईट राईट कैम्पस के रूप में विकसित किया जाना, ईट राईट स्टेशन के अधीन स्टेशनों को ईट राईट स्टेशन के रूप में विकसित करने, क्लीन स्ट्रीट फूड हब के रूप में एक हब को विकसित करने, फ्रेश फ्रूट एण्ड वेजीटेबल मार्केट के रूप में एक मार्केट विकसित करने तथा फूड फोर्टिफिकेशन कार्यशाला का आयोजन किये जाने के सम्बन्ध मेें विस्तृत विचार-विमर्श हुआ। जिलाधिकारी को बैठक में अभिहित अधिकारी खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन श्री आर0एस0 पाल एवं खाद्य सुरक्षा अधिकारी ने प्रस्तुतीकरण के माध्यम से बताया कि वर्ष 2021-22 में विशेष अभियानों के तहत सरसों के तेल में मिलावट के विरूद्ध सर्विलांस नमूना संग्रहण, रक्षा बन्धन त्योहार एवं श्रीकृष्ण जन्माष्टमी, नवरात्रि एवं दीपावली, होली त्योहार तथा समय-समय पर चलाये गये विशेष अभियानों के तहत 827 नमूनों का संग्रहण किया गया, जिनमें से कई के विरूद्ध कार्रवाई की गयी।

बैठक में जिलाधिकारी ने अधिकारियों से कहा कि आपके पास जनपद में कम्पनियों आदि की कितनी कैण्टीन हैं, उनका पूरा डॉटा होना चाहिये तथा जनपद में जिस भी संस्थान आदि द्वारा कैण्टीन का संचालन किया जा रहा है, ’’सुरक्षित भोजन एवं स्वस्थ आहार’’ के मद्देनजर इन कैण्टीनों आदि में-अच्छी गुणवत्ता एवं ताजी सामग्री का प्रयोग हो रहा है कि नहीं, वर्तन, उपस्कर, स्टॉल साफ-सुथरे हैं कि नहीं, भोजन पकाने से पहले हाथ धोये कि नहीं, पके हुये भोजन और कच्चे खाद्य पदार्थ को अलग-अलग रखा है कि नहीं, भोजन को सुरक्षित तापमान पर रखा गया है कि नहीं, भोजन पकाने के लिये स्वच्छ पानी का प्रयोग किया जा रहा है कि नहीं, भोजन अच्छी तरह पका है कि नहीं आदि, का ध्यान रखते हुये इनका दौरा करना सुनिश्चित करें। उन्होंने अधिकारियों को ये भी निर्देश दिये कि स्कूलों आदि में जितनी भी भोजन मातायें भोजन तैयार करने का कार्य कर रही हैं, उन्हें भी मास्टर ट्रेनर के माध्यम से ’’सुरक्षित भोजन एवं स्वस्थ आहार’’ का प्रशिक्षण देना सुनिश्चित करें। इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी(प्रशासन) पी0एल0 शाह, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0 कुमार खगेन्द्र, सचिव रेडक्रास डॉ0 नरेश चौधरी, महाप्रबन्धक उद्योग सुश्री पल्लवी गुप्ता, मुख्य कृषि अधिकारी विजय देवराड़ी, जिला शिक्षा अधिकारी श्री एन0के0 हल्दियानी, डॉ0 एस0 तिवारी, फूड सेफ्टी अधिकारी कपिल देव, श्री सन्दीप मिश्रा सहित सम्बन्धित अधिकारीगण उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *