जीवन में कठिनाइयां आती है तो हमें विवेकानंद जी का स्मरण करना चाहिए, स्वामी विवेकानंद जयंती पर गोष्ठी

रुड़की। आज स्वामी विवेकानंद की जयंती के उपलक्ष में रामकृष्ण सेवा समिति रूड़की और संस्कार भारती के द्वारा विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के आरंभ में रामकृष्ण सेवा समिति अध्यक्ष डॉ राजकुमार उपाध्याय ने स्वामी विवेकानंद की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। इस कार्यक्रम में मुख्य वक्ता प्रोफेसर संगीत रागी रहे।
संगीत रागी ने कहा कि राम कृष्ण लाइब्रेरी में बैठकर वह पढ़ाई किया करते थे उन्होंने यह भी कहा कि कभी भी जीवन में कठिनाइयां आती है वह हमें तोड़ देती हैं तो ऐसे में हमें विवेकानंद जी का स्मरण करना चाहिए। रागी जी ने राष्ट्रीय विमर्श में स्वामी जी की भूमिका को सिलेबस में डाल दिया ताकि मास्टर के बच्चे भी स्वामी जी के बारे में पढ़ सकें। उन्होंने स्वामी जी विचारों पर रोशनी डाली और कहा गर्व से कहो हम हिंदू हैं। यह कोई नारा नहीं है इस नारे का विस्तार भारतीय दर्शन की व्याख्या में हर जगह मिलेगा। पश्चिम से भारत को सीखने की आवश्यकता नहीं है। अध्यात्म के क्षेत्र में भारत ने पश्चिम से ज्यादा अध्यात्म का विज्ञान के क्षेत्र में खोज की है। पश्चिम हमें शासन की विद्याओं के बारे में बता सकता है। ईश्वर में हजारों गुना सूरज का प्रकाश है।
उन्होंने कहा अध्यात्म का अपना विज्ञान है । हम शांत चित्त ना हो और केवल आंखें बंद कर ले तो भगवान का दर्शन नहीं हो सकता इसीलिए भगवान का दर्शन करने के लिए शांत रहना आवश्यक है। इस कार्यक्रम में कक्षा 7 के छात्र अभिजीत राघव ने स्वामी विवेकानंद जी की संक्षिप्त जीवनी प्रस्तुत की। संस्कार भारती के क्षेत्र प्रमुख देवेंद्र रावत जी ने भी विचार अभिव्यक्ति की। उन्होंने स्वामी जी को योद्धा सन्यासी कहा । संरक्षक अशोक शर्मा जी ने भी अपने विचारों को व्यक्त किया। उन्होंने हमें सनातन धर्म के महत्व को बताया इस दुनिया में सुख , समृद्धि और शांति भारतीय मूल्यों और संस्कृति से ही आ सकती है। नर सेवा नारायण सेवा स्वामी जी का उद्देश्य था। संपूर्ण कार्यक्रम का संचालन विवेक कंबोज जी ने किया ।डॉक्टर राजकुमार उपाध्याय ने सभी अतिथियों का स्वागत और परिचय किया और अंत में स्वामी जी के जीवन पर एक प्रेरक कविता सुनाई। इस कार्यक्रम में प्रो संगीत रागी ,डॉक्टर कमलेश चंद्र, डॉक्टर विनोद आर्य,डॉ अर्जुन नाज्ञान,राकेश मालवीय, पूजा नंदा, मनीषा सिंघल, अशोक शर्मा ,प्रवीण त्यागी ,विवेक कांबोज,नरेश त्यागी ,डॉक्टर इंद्रसेन, नीलम, अजय भटनागर, अक्षय कुमार, अनिल कुमार, दिव्यांशी, सुनीता अरोड़ा, राखी, रीना, सीमा, निशा गुप्ता, तृप्ति वर्मा, नेहा शर्मा, प्रदीप त्यागी, भावना शर्मा, नीलम मधोक,पुष्करण,रोशनलाल अग्रवाल मधोक,भावना शर्मा, अंजली महेश्वरी, शिवानी विनायक, अजय भटनागर ,पूजा नंदा ,पंकज नंदा ,अक्षय कुमार, अभिजीत राघव एवं अन्य सदस्यों की उपस्थिति रही। कल्याण मंत्र के साथ गोष्ठी सम्पन्न हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.