धर्मनगरी में कड़ाके की ठंड ने बांधी कंपकंपी, बाजारों में पसरा रहा सन्नाटा, अलाव की व्यवस्था दूर-दूर तक नहीं आई नजर

हरिद्वार । धर्मनगरी में कड़ाके की ठंड ने लोगों को घरों में कैद रहने को मजबूर कर दिया है। ठंड के चलते लोग बाजार की तरफ भी बहुत कम रूख कर रहे हैं। दिनभर सूर्यदेव के दर्शन नहीं होने से लोगों को सर्द हवाओं ने दिनभर परेशान किया। शहर के मुख्य चौराहे और बाजारों में पूरी तरह सन्नाटा पसरा रहा। कड़ाके की ठंड के बाद भी अलाव की व्यवस्था दूर-दूर तक नजर नहीं आ रही है। बुधवार को हरिद्वार में अधिकतम तापमान छह डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम 14.8 सेल्सियस दर्ज किया गया। बुधवार सुबह से ही आसमान में कोहरा छाया रहा। सर्द हवाओं से मौसम बेहद ठंडा होने के कारण सड़कों पर सन्नाटा पसरा रहा। हरकी पैड़ी क्षेत्र और आसपास के यात्री बाहुल्य इलाकों में भी ठंड का असर देखने को मिला। जबकि ज्वालापुर के कटहरा बाजार, अंसारी मार्केट, चौक बाजार, पीठ बाजार, कनखल के कृष्णानगर बाजार, चौक बाजार आदि में भी ठंड के चलते लोग नहीं पहुंच सके। जिस वजह से दुकानदारों ने भी पूरा दिन ऐसे ही बैठकर गुजारा। जबकि पूरे दिन सूरज नहीं निकलने के कारण सर्द हवाओं से लोग ठिठुर गए। ठंड से बचने के लिए स्थानीय दुकानदार और लोगों ने स्वयं ही लकड़ी का बंदोबस्त कर अलाव जलाकर ठंड से बचाव किया। कड़ाके की ठंड शुरू होने के बाद भी नगर निगम की ओर से अलाव की व्यवस्था नहीं होने से लोगों में निगम के प्रति नाराजगी भी दिखी। वहीं कामकाजी लोग दुपहिया चालक ठंड से बचने के लिए खुद को पूरी तरह कपड़ों से पैक करके आते-जाते दिखाई दिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *