स्वतंत्रता सेनानी पिता-पुत्र शहीद फतेह सिंह और शहीद उमराव सिंह मानकपुर को शहादत दिवस पर हवन यज्ञ कर दी गई श्रंद्धाजलि, कोविड कर्फ्यू का किया गया पालन, क्षेत्रवासियों ने कहा कभी नहीं बुलाया जा सकता बलिदान

झबरेड़ा । 27 मई सहादत दिवस पर पिता पुत्र स्वतंत्रता सेनानी शहीद फतेह सिंह और शहीद उमराव सिंह को श्रद्धांजलि अर्पित की गई। श्रद्धांजलि हवन एवं यज्ञ कर दी गई हवन का आयोजन शहीद उमराव सिंह स्मारक समिति के द्वारा किया गया जो स्मारक स्थल पर किया गया हवन जगपाल आर्य व रोहिताश आर्य के द्वारा किया गया शहादत दिवस के अवसर पर लघु सभा में बोलते हुए रोहिताश आर्य ने कहा कि पिता पुत्र का बलिदान भुलाया नहीं जा सकता क्षेत्र के लिए एक अदम्य योगदान शहीद उमराव सिंह और उनके पिता शहीद फतेह सिंह द्वारा 18 57 की क्रांति में दिया गया है जिसे सर्व समाज कभी नहीं भुला सकता उन्होंने बताया दोनों पिता पुत्र को सहारनपुर में 27 मई को फांसी दी गई थी ।पूर्व राज्यमंत्री डॉ रामपाल सिंह ने कहा कि शहीद उमराव सिंह स्मारक स्थल को भव्यता रूप दिया जाएगा जो गांव मानकपुर आदमपुर में स्थापित और निर्माणाधीन है । संचालन एडवोकेट अनुभव मानकपुर ने किया इस अवसर पर महावीर आर्य है नरेश शिवपुर, आज़ाद ठेकेदार आदि लोगों ने अपने विचार व्यक्त किए जिसमे कोविड कर्फ्यू का पूरा पालन किया गया, हवन एवं सभा में राजू आर्य, मांगेराम आर्य, डॉक्टर नरेंद्र, पप्पन प्रधान, जोनी कुमार, सचिन कुमार ,हिमांशु, मकर सिंह, राम सिंह, संदीप प्रधान ,राहुल चौधरी, आतिश कुमार, शंकर सिंह, मोनू कुमार ,नितिन सिंह परमार, विपिन कुमार, प्रवेश कुमार, निवेश कुमार फौजी, रवि परमार, विनोद खन्ना आदि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.