पुत्र ने ही मरवाई कारोबारी को गोली, घटना के खुलासे ने पूरे शहर को चौंकाया

रुड़की । कारोबारी को गोली मारे जाने की घटना के खुलासे ने पूरे शहर को चौंका दिया है। दरअसल,कारोबारी को उसके पुत्र ने ही संपत्ति विवाद में गोली मरवाई है। पुलिस ने आरोपी पुत्र समेत तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। वारदात में प्रयुक्त तमंचा और बाइक बरामद की है। तीन आरोपी फरार चले रहे हैं।सिविल लाइंस कोतवाली में एसपी देहात एसके सिंह ने प्रेसवार्ता में बताया कि 29 जनवरी को रात करीब आठ बजे आदर्श नगर निवासी कारोबारी रामपाल कश्यप को गोली मारी गई थी। गोली लगने से कारोबारी गंभीर रूप से घायल हो गए थे। वारदात को अंजाम देकर बदमाश मौके से फरार हो गए थे। पुलिस और परिजनों ने कारोबारी को प्राथमिक उपचार के बाद हायर सेंटर में भर्ती कराया था। जहां अब कारोबारी की हालत सामान्य है। कारोबारी के भतीजे संजय कश्यप की तहरीर पर दामाद रजत शर्मा समेत तीन लोगों पर मुकदमा दर्ज किया गया था। शुरुआती जांच में सामने आया था कि रंजिश या संपति विवाद में गोली मारी गई है। पुलिस ने करीबियों के अलावा नामजद आरोपी को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया था। जांच में सामने आया था कि कारोबारी का अपने इकलौते पुत्र विपिन से संपत्ति विवाद चला आ रहा है। पूछताछ के लिए विपिन को हिरासत में लिया गया। पूछताछ में विपिन ने बताया कि पिता के पास करोड़ों रुपये की संपत्ति है लेकिन पिता अपने भाई सुखवीर और उनके पुत्रों के साथ रहते हैं। पूरी संपति और लेनदेन का हिसाब उन्हीं के पास रहता है। पिता को काफी बार संपत्ति बंटवारे के लिए कहा गया लेकिन उन्होंने हमेशा बातों को नजरअंदाज किया। उसने अपने मामा ममेरे भाई मनोज को बताई। ममेरे भाई ने अपने और दोस्त गुरविंद्र राठी को संपत्ति विवाद के बारे में बताया। तय किया गया कि रामपाल कश्यप की हत्या की जाएगी। एसपी देहात ने बताया कि मनोज के दोस्त गुरुविंद्र राठी ने दस लाख रुपये सुपारी देकर हत्या कराने की बात कही। इसके बाद गुरुविंद्र राठी, मनोज और प्रमोद जाट भी योजना में शामिल हो गए। प्रमोद जाट ने अपने परिचित शॉर्प शूटर छोटा को गोली मारने के लिए राजी किया। सभी ने मिलकर बाइक मैकेनिक शहजाद को भी योजना में शामिल किया। पूरी प्लानिंग के तहत 29 जनवरी को शॉर्प शूटर छोटा ने कारोबारी रामपाल कश्यप को गोली मारी। एसपी देहात एसके सिंह ने बताया कि कारोबारी को गोली मारने के मामले में आदर्श नगर निवासी विपिन, नौगांव थाना मिर्जापुर जिला सहारनपुर निवासी बाइक मैकेनिक शहजाद, धर्मावाला थाना विकासनगर जिला देहरादून निवासी प्रमोद जाट को गिरफ्तार किया है। आरोपियों के कब्जे से तमंचा, कारतूस और वारदात में शामिल बाइक बरामद की है। सिसोली, मुजफ्फरनगर निवासी शॉर्प शूटर छोटा, मछेरी थाना दौराला मेरठ निवासी गुरुविंद्र राठी और मनोज फरार चल रहे हैं। टीम में इंस्पेक्टर अमरजीत सिंह, एसएसआई प्रदीप कुमार, अंकुर शर्मा, सचिन, प्रवीण, रामवीर, लईक, नीरज, विनोद चपराना और सीआईयू प्रभारी रविंद्र, देवेंद्र भारती, जाकिर हुसैन, महिपाल, रविंद्र खत्री, सुरेश रमोला, अशोक आदि शामिल रहे। वहीं जहां इस घटना के खुलासे से पूरा शहर चौक गया है वहीं पुलिस कि इस गुड वर्क पर तारीख भी हो रही है क्योंकि ऐसी घटनाओं का खुलासा कर पाना बड़ा ही मुश्किल होता है जिसमें कि अपने ही लोग शामिल रहे हो। क्योंकि आरोपी हिजाब पीड़ित बनकर पुलिस कार्रवाई पर नजर रखने लगता है तो ऐसे में किसी भी घटना का खुलासा कर पाना बड़ा कठिन रहता है। लेकिन सिविल लाइंस कोतवाली पुलिस ने इस मामले का खुलासा बड़ी ही चतुराई से किया। पुलिस को पहले दिन से ही शक था लेकिन कारोबारी के पुत्र को पुलिस ने जरा भी अहसास नहीं होने दिया कि उस पर निगाह है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *