भारतीय संस्कृति में नारी का विशेष सम्मान, केंद्रीय विद्यालय एक में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर आयोजित समारोह में महिलाओं को सम्मानित किया गया

रुड़की। संस्कृत में एक श्लोक है- ‘यस्य पूज्यंते नार्यस्तु तत्र रमन्ते देवता:। अर्थात्, जहां नारी की पूजा होती है, वहां देवता निवास करते हैं। भारतीय संस्कृति में नारी के सम्मान को बहुत महत्व दिया गया है। आज केंद्रीय विद्यालय क्रमांक एक रूड़की में महिला दिवस समारोह का आयोजन किया गया। अन्तरराष्ट्रीय महिला दिवस हर वर्ष, 8 मार्च को मनाया जाता है। विश्व के विभिन्न क्षेत्रों में महिलाओं के प्रति सम्मान, प्रशंसा और प्यार प्रकट करते हुए इस दिन को महिलाओं के आर्थिक, राजनीतिक और सामाजिक उपलब्धियों के उपलक्ष्य में उत्सव के तौर पर मनाया जाता है। इस समारोह की मुख्य अतिथि केंद्रीय विद्यालय क्रमांक – 1 रूडकी एलुमनाई एसोसिएशन की उपाध्यक्ष श्रीमती नीलम सिंह थी।महिला दिवस के अवसर पर विद्यालय की विभिन्न क्षेत्रों में बेहतर प्रदर्शन करने वाली छात्राओं तथा कर्मठ महिला शिक्षिकाओं को अपने क्षेत्र में विशिष्ट योगदान के लिए सम्मानित किया गया । उप प्राचार्या श्रीमती अंजू सिंह के अलावा शिक्षिकाओं में श्रीमती पूनम कुमारी, श्रीमती विद्योत्तमा मिश्रा, डॉ बीना कर्णाटक, श्रीमती राखी दायमा तथा श्रीमती जया मलिक पराशर एवं छात्राओं में कक्षा बारहवीं की अंजलि पन्त, श्रुति अन्थ्वाल, सपना दोसानी, संध्या, राजनंदिनी, दीप्ती कुमारी, रक्षिता, तनुरीत कौर, अपूर्व थपलियाल को प्राचार्य वी के त्यागी द्वारा प्रशस्ति पत्र तथा स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया| जैसा कि हम जानते है कि नारियां सृजन का प्रतीक है, इसलिए इस अवसर पर विद्यालय की महिला शिक्षकों ने उप प्राचार्या श्रीमती अंजू सिंह के साथ विद्यालय प्रांगण में पौधारोपण कर पर्यावरण संरक्षण का भी सन्देश दिया ।इस अवसर पर बोलते हुए प्राचार्य वी के त्यागी ने कहा कि आजकल की महिलाओं को हर क्षेत्र में आगे बढ़ते हुए देखा जा सकता है । जरुरत हमें अपनी बेटियों पर विश्वास कर उन्हें सामान अवसर प्रदान करने का है । विभिन्न परीक्षाओं की मेरिट लिस्ट में लड़कियां तेजी से आगे बढ़ रही हैं। इन्होंने अपनी मेहनत और मेधा शक्ति के बल पर हर क्षेत्र में प्रवीणता अर्जित कर ली है। इनकी इस प्रतिभा का सम्मान किया जाना चाहिए। आज विद्यालय में बेहतर प्रदर्शन करनेवाली छात्राओं और शिक्षिकाओं को सम्मानित किया गया है । विद्यार्थियों को भी इसके लिए प्रोत्साहित किया है कि वो अपने घर तथा स्कूल में महिलाओं को एक कार्ड से ही सही, महिला दिवस पर शुभकामनायें जरुर दे।इस अवसर पर बोलते हुए मुख्य अतिथि श्रीमती नीलम सिंह ने कहा कि महिला और पुरुष एक गाडी के दो पहिये सामान है | एक दूसरे की प्रगति एक दुसरे के सहयोग में निहित है ।इस अवसर पर विद्यालय में विभिन्न प्रतियोगिताएं जैसे: भाषण प्रतियोगिता, लोकगीत, लोकनृत्य प्रतियोगिता, नारा लेखन प्रतियोगिता, चित्रकला प्रतियोगिता का आयोजन ऑनलाइन किया गया। इसमेंनिबंध लेखन प्रतियोगिता कक्षा 6 से 8 के वर्ग में वंशिका कौशिक ( 8 ब ) ने प्रथम स्थान प्राप्त किया, राशि शर्मा (6 ब ) द्वितीय, तथा देवांशु (7 अ) ने तृतीय स्थान प्राप्त किया।निबंध लेखन प्रतियोगिता में कक्षा 9 से 12 के वर्ग में प्रिया बिष्ट (11 अ ) ने प्रथम स्थान प्राप्त किया, शिवांशी (11 ब ) ने द्वितीय, तथा सुहानी कंवर (11 स ) ने तृतीय स्थान प्राप्त किया |नारा लेखन प्रतियोगिता में कक्षा 6 से 8 के वर्ग में मोहम्मद अयान (8 अ ) ने प्रथम स्थान प्राप्त किया, यशिता सिंह (8 अ ) द्वितीय, तथा अभिनव (7 अ ) ने तृतीय स्थान प्राप्त किया |चित्रकला प्रतियोगिता में कक्षा 6 से 8 के वर्ग में तनु ( 6 अ ) ने प्रथम स्थान प्राप्त किया, सृष्टि (6 अ ) द्वितीय, तथा मोहम्मद अयान (8 अ ) ने तृतीय स्थान प्राप्त किया।भाषण प्रतियोगिता में कक्षा 6 से 8 के वर्ग में नियति ( 8 स ) ने प्रथम स्थान प्राप्त किया, शताक्षी चौहान (6 स ) द्वितीय, तथा रामसा (7 अ ) ने तृतीय स्थान प्राप्त किया ।प्राथमिक विभाग से नारा लेखन प्रतियोगिता में वेदिका सैनी (1 ब ) तथा चरण गौड़ा (3 ब ) प्रथम, चित्रकला प्रतियोगिता में आराध्या (3 अ ) तथा सक्षम सारस्वत (2 स ) ने प्रथम स्थान प्राप्त किया, निबंध लेखन प्रतियोगिता में आराध्या (3 अ ) तथा समक्ष पंवार (2 स ) ने प्रथम स्थान प्राप्त किया।उप प्राचार्या श्रीमती अंजू सिंह ने कहा कि हम हर महिला का सम्मान करें। अवहेलना, भ्रूण हत्या और नारी की अहमियत न समझने के परिणाम स्वरूप महिलाओं की संख्या, पुरुषों के मुकाबले कम बची है। भारतीय संस्कृति में महिलाओं को देवी, दुर्गा व लक्ष्मी आदि का यथोचित सम्मान दिया गया है अत: उसे उचित सम्मान दिया ही जाना चाहिए। कार्यक्रम का संचालन ओमबीर सिंह तथा श्रीमती पूनम कुमारी ने किया| इस अवसर पर समस्त विद्यालय स्टाफ उपस्थित रहा ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *