स्वामी विवेकानंद शाखा शिव रसोई का 57 वें दिन हुआ समापन, मुख्य वक्ताओं ने कहा राष्ट्रीय स्वयंसेवक का कार्य सराहनीय

हरिद्वार । शिव रसोई औरंगाबाद 57 वे दिन समापन हुआ। समापन कार्यक्रम में बतौर मुख्य वक्ता वीर प्रताप चौहान जिला सेवा प्रमुख हरिद्वार मुख्य अतिथि प्रशांत बहुगुणा थाना अध्यक्ष सिडकुल, दिलबर सिंह कंडारी चौकी इंचार्ज सिडकुल अध्यक्ष, राजबीर चौहान सेवानिवृत्त अध्यापक, वशिष्ठ अतिथि मुनेश चौहान खंड कार्यकारिणी सदस्य बहादराबाद, विजय चौहान जिला योजना नामित सदस्य हरिद्वार व भाजपा जिला कोषाध्यक्ष हरिद्वार ,संचालन आदित्य चौहान खंड कार्यवाह बहदराबाद ने किया। हमें समाज से जो प्रेरणा मिलती है ,जब सभी स्वयंसेवक इस आपदा में खड़े हुए। तो समाज ने तन मन धन से हमारा सहयोग किया l हमने इस कार्य को अल्पविराम दिया है, इसमें 42 स्वयंसेवकों ने इस ईश्वरीय कार्य में तन मन धन से सहयोग दिया। जिसमें प्रतिदिन 585 भोजन के पैकेट वितरित किए। यही नहीं समाज के लोगों से 1101किलो आटा ,965 किलो चावल, 11 टिन रिफाइंड ,270 किलो दाल ,48 किलो नमक 387 किलो आलू आदि प्राप्त हुए। चौकी इंचार्ज दिलबर सिंह कंडारी ने कहा आपदा की इस घड़ी में यदि सामाजिक संस्थाएं ना खड़ी होती तो प्रशासन के लिए कठिन हो जाता ,उन्होंने कहा हमें बहुत सी संस्थाओं का सहयोग मिला । जिसमें राष्ट्रीय स्वयंसेवक का कार्य सराहनीय है ,वीर प्रताप जिला सेवा प्रमुख ने कहा यदि कोई व्यक्ति कष्ट से रहता है तो वह हमारे लिए निरर्थक है यही सेवा भाव लेकर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पूरे देश में सेवा भाव से कार्य कर रहा उसके कष्ट को दूर करने के लिए हमें जितने भी प्रयास करने होते हैं ,जब भी देश व विश्व में आपदा आई तो स्वयंसेवको ने आपदा से निपटने के लिए देश के लिए अपने सर्वस्व न्योछावर करने के लिए तैयार रहा । इसके लिए दुनिया हमारा परिवार है ,यह सेवा भाव हमारे स्वयंसेवक का होना चाहिए। 1925 से संघ सेवा भाव में लगा है इस कोविड 19 में हमारी स्वयंसेवक संस्थाएं दिन रात प्रयासरत है । इसके लिए हमारी समाजिक संस्था डॉक्टर सफाई कर्मी पुलिस प्रशासन की भी प्रशंसा होनी चाहिए। जिसमें पुलिस प्रशासन,अमित भट्ट नानकी, राखी, नरेश तोमर,व सचिन चौहान जी महामंत्री क्षत्रिय समाज, रजनीश, रोहित, सुनील, मां,योगेश, चरण सिंह, दीपक नौटियाल, ओमकार, अनुज, जितेंद्र,मां,लाखन,विजयपाल, मनीष, सचिन, विवेक, पदम, नितिन, अंकित,आरव, मोहित, चंद्रमोहन,दिशांत ,नितेश ,प्रियांशु ,अभिनव, हर्ष ,सागर, प्रिंस, आशीष, भानु प्रताप, दीपांशु, पीयूष,बिरमपाल, मंगल ममता,कुरनेश, बबीता, गीता, रुचि आदि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *