बिना अनुमति कोविड अस्पताल चलाए जाने की शिकायत पर कर्नल हास्पिटल में छापेमारी, जिलाधिकारी ने स्वास्थ्य विभाग की टीम के साथ की हैं छापेमारी, बिना कोविड टेस्ट किए मरीजों का उपचार किया जा रहा था कोरोना का उपचार

रुड़की । दिल्ली रोड स्थित कर्नल हास्पिटल में जिलाधिकारी सी रविशंकर ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ छापेमारी की हैं। बिना अनुमति कोविड अस्पताल चलायें जाने की लगातार शिकायत मिल रही थी जिसपर डीएम ने स्वास्थ्य विभाग की टीम के साथ छापेमारी की हैं। कोविड उपचार के लिए जिले में कुछ ही अस्पतालों को अनुमति दी हुई है इसके बावजूद भी कुछ अस्पताल इसकी अवहेलना करते हुए कोविड मरीजों का उपचार कर रहे हैं। ऐसे ही एक अस्पताल को पिछले दिनों आवास विकास में छापेमारी कर स्वास्थ्य विभाग ने सील किया था अब एक बार फिर से दिल्ली रोड स्थित कर्नल अस्पताल में डीएम सी रविशंकर और सीएमओ एसके झा के नेतृत्व में स्वास्थ्य विभाग, प्रशासन और पुलिस की टीम ने छापेमारी की। इस दौरान अस्पताल में बिना कोविड टेस्ट किए मरीजों का उपचार किया जा रहा था। इसके साथ ही अधिक पैसे वसूले जाने का मामला भी प्रकाश में आया। एक मरीज के परिजन बिझौली निवासी गुलशेर अली ने भी मौके पर अधिकारियों को बताया कि उनसे तीन लाख 20 हजार रुपए की वसूली की गई और बिना कोविड टेस्ट करवाये उपचार किया गया लेकिन दस दिन उपचार के बाद मरीज की मौत हो गई । वहीं मोहम्मदपुर निवासी मेहताब आलम ने बताया कि 12 दिन से उनकी मां समरजहाँ इस अस्प्ताल में बुखार की शिकायत के बाद भर्ती थी लेकिन जब 12 दिन में उन्हें लाभ नही मिला तो उन्हें आरोग्यम लेकर गए जहां उनकी कोविड रिपोर्ट पॉजिटिव आई लेकिन तब तक उन्होंने उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। मेहताब की माने तो उनसे अस्पताल द्वारा 25 हजार रुपए प्रतिदिन लिए गए। इस दौरान टीम में सीडीओ हरिद्वार, ज्वाइन्ट मजिस्ट्रेट नमामि बंसल, एसपी देहात परमिंदर डोभाल, सीओ बीएस चौहान, कोतवाली प्रभारी सिविल लाइंस राजेश साह, कोतवाली प्रभारी गंगनहर मनोज मेनवाल आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.