समर्पण संस्था ने चीन सीमा पर शहीद हुए हिन्दुस्तान के अमर सैनिकों को श्रद्धांजलि देते हुए लक्ष्मी नारायण घाट पर दीपदान और मौन धारण किया

रुड़की । समर्पण संस्था द्वारा चीन सीमा पर शहीद हुए हिन्दुस्तान के अमर सैनिकों को श्रद्धांजलि देते हुए लक्ष्मी नारायण घाट पर दीपदान एवं मौन धारण किया गया। मातृभूमि पर देश की रक्षा करते हुए भारत माता के लाल जिन्हें चीन की मक्कार दृष्टि लील गई। भारत माता के वीर सैनिकों ने जब यह देखा की मक्कार पड़ोसी भारत माता के आंचल पर अपने पैर रखने का प्रयास कर रहा है तो गश्त पर निकले फौजी काल बनकर उन दुश्मनों पर टूट पड़े। दुश्मन के अनेक सैनिकों को मारते हुए हमारे देश के शहीद हुए वीर सपूतों को आज समर्पण परिवार ने दीपदान के माध्यम से अपने श्रद्धा सुमन अर्पित किए। इस कार्यक्रम में रुड़की नगर की मुख्य नगर आयुक्त नूपुर वर्मा और उप नगर आयुक्त चंद्रकांत भट्ट भी उपस्थित रहे। उन्होंने भी भारत माता के वीर सपूतों को श्रद्धा सुमन अर्पित किए। दीपदान के उपरांत 2 मिनट का मौन रखकर सभी शहीदों की आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की गई। पंडित रामगोपाल पराशर जी ने शांति पाठ कर मृतक आत्माओं की शांति हेतु एक पाठ कराया। समर्पण संस्था आज समस्त देशवासियों से अनुरोध करता है कि चीन एवं चीन में निर्मित सभी वस्तुओं का सामूहिक रूप से बहिष्कार करें, यही हमारे देश के अमर शहीदों को सच्ची श्रद्धांजलि होगी। हम चीन की आर्थिक व्यवस्था को समाप्त कर सकेंगे। संस्था के सरंक्षक सुरेश आनंद ने कहा भारत के इन अमर शहीदों की शहादत व्यर्थ नही जाएगी। समर्पण संस्था के अध्यक्ष नरेश यादव ने कहा की चीन द्वारा भारतीय सैनिकों किए गए हमले में जो हमारे जो वीर सैनिक शहीद हुए हैं, उन्हें हम श्रद्धांजलि अर्पण करते हैं। साथ ही उनकी वीरता को नमन करते हैं जिससे उन्होंने चीन के अनेक सैनिकों का संहार किया। रुड़की ड्रगिस्ट एवं केमिस्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष गजेंद्र शर्मा ने कहा कि हमें पूरा विश्वास हैं कि भारत सरकार इस शहादत का बदला लेगी। श्रद्धांजलि देने वालो में मुख्य नगर आयुक्त नूपुर वर्मा, उप नगर आयुक्त चंदकान्त भट्ट, सुरेश आनंद, नरेश यादव, प्रदीप गोयल, राजकुमार सोनकर, राजेश सोनकर, विकास त्यागी, सचिन पंडित, संदीप यादव, नवीन शर्मा, अजय, संदीप यादव, नवीन शर्मा, राजकुमार सोनकर, राजेश सोनकर, अरुण कोहली, राकेश गर्ग, अमित अग्रवाल, विकास गुप्ता, सुमित कुमार भारद्वाज आदि रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *