युवा कांग्रेस ने सांकेतिक रूप से धरना देकर विरोध जताया, कहा भाजपा सरकार में आम आदमी और रसूखदार के लिए अलग-अलग कानून

रुड़की । सतपाल महाराज के क्वारंटाइन नियमों का उल्लंघन करने के मामले में युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने सांकेतिक रूप से धरना देकर विरोध जताया। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार में आम आदमी और रसूखदार के लिए अलग-अलग कानून हैं। रुड़की में दिल्ली रोड पर एनएसयूआई और युवक कांग्रेस रुड़की की ओर से आयोजित कार्यक्रम में एनएसयूआई जिलाध्यक्ष सचिन चौधरी ने कहा कि उत्तराखंड के काबीना मंत्री सतपाल महाराज और उनके परिजनों ने कोरोना संक्रमित होने के बाद भी उन सभी कानूनों का उल्लंघन किया है जो इस कोरोना महामारी के संक्रमण काल में अपराध है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार पहले कई निरअपराध लोगों पर इस मामले में मुकदमा दर्ज कर चुकी है। लेकिन संगीन स्थिति के बाद भी सतपाल महाराज के आगे सरकार विवश है। युवा कांग्रेस रुड़की के अध्यक्ष राजू चौधरी ने कहा कि कोरोना पॉजिटिव होने के बावजूद सतपाल महाराज कैबिनेट बैठक में शामिल हुए और अपने सहयोगियों के साथ राजनीतिक उद्देश्य से विधानसभा क्षेत्र में आम लोगों के संपर्क में भी आए। उन्होंने मांग की कैबिनेट बैठक में शामिल सभी मंत्रियों की और मुख्यमंत्री की जांच की जानी आवश्यक है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार रसूखदार और आम लोगों के लिए अलग-अलग मापदंडों का इस्तेमाल कर रही है। इसके खिलाफ कांग्रेस आंदोलन करने से भी पीछे नहीं हटेगी। इस अवसर पर रवि चौधरी, अनुज शर्मा, रजत, सोनू, आकाश, आरुष,विशाल चौधरी, गौरव त्यागी, प्रिंस आदि मौजूद रहे। वहीं खानपुर विधानसभा क्षेत्र के ढंढेरा में पीसीसी सदस्य उदय सिंह पुंडीर के नेतृत्व में आयोजित कार्यक्रम में कार्यकर्ताओं ने हाथों में पोस्टर पकड़कर राज्य सरकार का विरोध जताया। उदय सिंह पुंडीर ने कहा कि आम आदमी मामूली सी गलती कर दे तो उसके खिलाफ तुरन्त कार्रवाई हो जाती है लेकिन अगर कोई वीआईपी इस कानून का उल्लंघन करे तो सरकार के नुमाइंदे अपनी आंखें मूंद लेते हैं। इस अवसर पर देवेस शर्मा, शशि पुंडीर, तेजेन्द्र राणा, चांद कुमार, कर्ण सिंह, राकेश पाल, राव अली आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *