श्यामपुर में बाइक सवार युवक को अज्ञात वाहन ने कुचला, मौके पर ही मौत, हरिद्वार से अपने घर लौट रहा था युवक

हरिद्वार । पांच माह से वेतन मिलने से नाराज जलसंस्थान अनुरक्षण इकाई के संविदाकर्मी सड़क पर उतर आए हैं। कर्मचारियों ने विरोध जताते हुए सड़कों पर भीख मांगी। कहा कि जल्द वेतन जारी न होने पर कर्मचारी आमरण अनशन मजबूर होंगे। संविदाकर्मियों ने कहा कि आत्मदाह उनके लिए अंतिम विकल्प होगा। गुरुवार को तीसरे दिन भी जगजीतपुर स्थित कार्यालय पर जलसंस्थान अनुरक्षण इकाई के संविदाकर्मियों की हड़ताल जारी रही। कर्मचारी ने चंद्राचार्य चौक से रैली निकालते हुए सड़कों पर भीख मांगी। संविदाकर्मियों ने कहा कि अधिकारियों का 90 कर्मचारियों को वेतन जारी करने का दावा सरासर गलत है। बताया कि जब भुगतान का चेक नही नहीं काटा गया तो वेतन कैसे जारी हुआ। संगठन के अध्यक्ष राजकुमार ने कहा अगर वेतन न मिला तो शुक्रवार को कर्मचारी ऋषिकुल चौक से सिटी मजिस्ट्रेट कार्यालय तक रैली निकालकर अपना विरोध जाहिर करेंगे। कहा कि कर्मचारियों के आगे अजीविका का संकट खड़ा है और विभाग ने तानाशाह रवैया अख्तियार किया हुआ है। संगठन के सचिव इमरत सिंह ने कहा कि सदी विभाग के अधिकारी उच्च न्यायालय और मुख्यालय को आदेश नहीं मानते है तो कर्मचारी उग्र आंदोलन को मजबूर होंगे। आमरण अनशन और आत्मदाह उनके पास अंतिम विकल्प होगा। प्रदर्शन करने वालों आरसी धीमान, पीडी बलूनी, आरपी जखमोला, प्रवीण कुमार, देवेंद्र कुमार, भूपेंद्र, रविंद्र, नवी, आदेश, शहेंद्र, पंकज शर्मा, गौरव धीमान, सोमदत्त, बिट्टू, सुरेंद्र, प्रताप सिंह, धर्मपाल, मुकेश, आशीष, शालीग्राम, बीरू, बिरेंद्र लालमणि, अलय, विक्की, पदम बहादुर, पवन, संजय, ओमप्रकाश, विमल, जयपाल, सोनू्र मदन्र अनिल, अरुण कुमार, दीपक अनुज, सत्यपाल, मोनू आदि शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *