जिलाधिकारी सी रविशंकर ने मानसून की दृष्टि से सरकारी महकमों की बैठक ली, शहर में जगह-जगह जलभराव से होने वाली समस्या का तत्काल समाधान के निर्देश

हरिद्वार । जिलाधिकारी सी रविशंकर ने आज कलेक्ट्रट सभागार में मानसून में बाढ़ तथा जलभराव की समस्या वाले संवेदनशील इलाकों में स्थिति को नियंत्रित रखने तथा शीघ्र कार्रवाई किये जाने की तैयारियों के लेकर जल संस्थान, जल निगम, सिंचाई, सीवेज, नगर निगम तथा पुलिस सहित प्रशाासनिक अधिकारियों की बैठक ली। डीएम ने आपदा प्रबंध विभाग से विभागों को ग्रामीण इकाईओं तक आपदा प्रबंधन के तहत मिले उपकरण व यंत्रों की कार्य क्षमता तथा परीक्षण कर लिये जाने के निर्देश दिये। जिसमे आस्का लाइट जनपद मे उपलब्ध वुड कटर, रेस्क्यू वाहन, एम्बुलेंस आदि की स्थिति की भी समीक्षा की। उन्होंने कहा कि यूपी तथा उत्तरखण्ड सिंचाई विभाग दोनो क्षेत्रों के अधिकारियों को अपने स्तर से बाढ़ नियंत्रण के लिए किये जाने वाले उपायों पर कार्य करें इसके अतिरिक्त कुछ विशेष निर्देश लिखित आदेश के माध्यम से सिंचाई विभाग के अधिकारियों को शीघ्र दिये जायेंगे। जिलाधिकारी ने कहा कि शहर में जगह-जगह जलभराव से होने वाली समस्या का तत्काल स्थाई समाधान यदि विभाग और अधिकरी नहीं कर सकते तो अस्थाई तौर पर तत्काल जलभराव से राहत दिलाने के लिए पर्याप्त व्यवस्था करनी ही होगी। प्रत्येक विभाग को यह सुनिश्चित करना होगा कि लोागों को अपनी समस्या बताने से पहले राहत टीमें मौकें पर कार्य आरम्भ कर चुकि हों। इसके लिए डीएम ने समब्ंधित विभाग से मौके पर रिस्पाॅस करने वाले अधिकारी कर्मचारियों के नम्बंर की सूची भी मांगी जिससे जनता सीधे अपने क्षेत्र में जल भराव की समस्या से अवगत करा सके और निस्तारण समय से हो जाये। नम्बंर सूची आते ही सम्बंधित के नम्बर सार्वजनिक किये जायेंगे। इसके अलावा जनपद में चलने वाले आपदा कंट्रोल रूम के साथ साथ शहर के लिए नगर निगम हरिद्वार में भी कंट्रोल रूम की स्थापना की जायेगी। डीएम ने एसडीएम, सिटी मजिस्ट्रेट तथा डिप्टी कलेक्टर को बाढ़ तथा जल भराव वाले इलाकों का स्थलीय निरीक्षण कर रिपोर्ट देने को भी कहा, कल ये अधिकारी अपनी रिपोर्ट डीएम को देंगे। सड़क खोदकर काम कर रहे यूपीसीएल सहित सभी विभागों को अपने द्वारा खोदे गये स्थान पर चेतावनी बार्ड, रिफलेक्टर काॅशन टेप लगाने के निर्देश दिये यदि इन गड्ढों से किसी के चोटिल होने की शिकायत प्राप्त होगी तो इसके पूर्ण जिम्मेदारी विभाग के मानते हुए अधिकारी के विरूद्ध एफआईआर दर्ज करायी जायेगी। यह सभी साइन बोर्ड रात्रि में चमकने वाले तथा गड़्ढों से उपर दूर से दिखायी देने वाले होने चाहिए। डीएम ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी श्री शम्भु कुमार झा को भी मानसून सीजन में अधिक सजगता से एम्बुलेंस टीमों की तैनाती किये जाने को कहा। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी विनीत तोमर, नगर आयुक्त नरेंद्र भण्डारी, अपर जिलाधिकारी कृष्ण कुमार मिश्र, एसपी सिटी कमलेश उपाध्याय सहित समस्त विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *