मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के तहत 7000 से अधिक बेरोजगारों को मिलेगा ऋण, जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष प्रदीप चौधरी ने इस संबंध में ली सहकारी बैंक की शाखाओं के प्रबंधकों की बैठक

रुड़की । जिला सहकारी बैंक दुग्ध उत्पादक सहकारी समितियों के माध्यम से मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के तहत 7000 से अधिक बेरोजगारों को ऋण देगा। ऋण 30000 से लेकर 200000 तक दिया जाएगा। यह ऋण शून्य ब्याज पर उपलब्ध कराया जाएगा। जिला सहकारी बैंक अध्यक्ष प्रदीप चौधरी ने मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के तहत ऋण वितरण तेजी से जारी कराया जाए। इस संबंध में सहकारी बैंक की शाखाओं के प्रबंधकों की बैठक ली। बीटी गंज मुख्यालय पर आयोजित बैठक में जिला सहकारी बैंक अध्यक्ष प्रदीप चौधरी ने कहा कि ऋण वितरण में जरा भी ढिलाई न बरती जाए। उन्होंने हिदायत दी है कि जो भी ऋण वितरण में कोताही बरतेगा उसी के खिलाफ सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के तहत अधिक से अधिक बेरोजगारों को रोजगार स्थापित करने के लिए ऋण दिया जाना है। स्वयं सहायता समूहों को भी अधिक से अधिक ऋण जारी किया जाए ताकि समूह में शामिल बेरोजगार सदस्य अपना रोजगार स्थापित कर सके। जिला सहकारी बैंक अध्यक्ष ने सचिव/ महाप्रबंधक सी के कमल से भी कहा है कि वह ऋण वितरण की प्रगति पर निरंतर निगाह रखें। नियमित रूप से प्रगति रिपोर्ट जिला सहकारी बैंक मुख्यालय मंगवाई जाए। साथ ही दुग्ध उत्पादक सहकारी समितियों के खाते सहकारी बैंक की शाखाओं में खुलवाए जाएं। इससे ऋण वितरण में भी तेजी आएगी और सहकारी बैंक में दुग्ध उत्पादक सहकारी समितियों के बीच वित्तीय लेनदेन भी बढ़ेगा। इससे सहकारिता अर्थव्यवस्था सुदृढ़ होगी। जिला सहकारी बैंक अध्यक्ष प्रदीप चौधरी ने सहकारी बैंक की शाखाओं के प्रबंधकों को कहा है कि सहकारी समितियों के माध्यम से जो कृषि ऋण वितरित किया जा रहा है उसमें भी तेजी लाई जाए। सभी शाखाओं में डिपाजिट बढ़ाया जाए। अधिक से अधिक लोगों को सहकारी बैंक की शाखाओं से ग्राहक के रूप में जोड़ा जाए। ग्रामीणों को अच्छी से अच्छी सुविधाएं प्रदान की जाए ताकि उनका रुझान सहकारी बैंक शाखाओं की ओर बढ़े। जिला सहकारी बैंक अध्यक्ष ने कहा है कि अन्य रोजगार ओं के लिए भी ऋण वितरित किया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *