नौकरी के नाम पर ठगी करने वाले दो गिरफ्तार, सिडकुल में नौकरी दिलाने के नाम पर बेरोजगार युवकों को ठगते थे

लक्सर । सिडकुल में नौकरी दिलाने के नाम पर बेरोजगार युवकों को ठगने वाले एक और गिरोह का पुलिस ने शनिवार को खुलासा कर दिया। गिरोह के सरगना सहित दो को पुलिस ने गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है। जबकि उनके कुछ साथी अभी फरार हैं। पुलिस उनकी भी गिरफ्तारी की कोशिश कर रही है। एसपी देहात एसके सिंह ने प्रेस वार्ता कर बताया कि बहादराबाद, सिडकुल की बड़ी कंपनियों में सुपरवाइजर की नौकरी दिलाने का झांसा देकर कुछ लोगों ने लक्सर के हबीबपुर कुड़ी निवासी रजवंत से बीस हजार रुपये ठगे थे। रजवंत ने इसका मुकदमा दर्ज कराया था। जांच करने पर पता चला कि रजवंत ने जिसे रकम दी थी, वह सहारनपुर (उत्तर प्रदेश) के जनकपुरी में कार्यालय चला रहा है। जानकारी यह भी मिली कि उसका पूरा गिरोह है और गिरोह सैकड़ों युवकों से इसी तरह ठगी कर चुका है। बताया कि गिरोह के सरगना विपिन सिंह पुत्र रामचंद्र निवासी हरके चंदपुर जिला रायबरेली और उसके साथी साकिब पुत्र अजीम निवासी अंबेहटा सहारनपुर को गिरफ्तार कर लिया गया है। उनसे चार कंप्यूटर, दो सीपीयू तथा कई बड़ी प्राइवेट कंपनियों के फर्जी नियुक्ति पत्र बरामद हुए हैं। गिरोह के कुछ सदस्य अभी फरार हैं। जल्दी ही उनकी भी गिरफ्तारी होगी। गिरोह ने उत्तराखंड के हरिद्वार, रुड़की, जगजीतपुर, देहरादून व उधम सिंह नगर में प्लेसमेंट कार्यालय खोल रखे थे। जबकि सरगना खुद सहारनपुर के मेन कार्यालय में बैठता था। गिरोह ने दूर दूर तक जॉब, जॉब, जॉब के पोस्टर लगवा रखे थे। इन्हीं को पढ़कर बेरोजगार युवक उनसे संपर्क करते थे। गिरोह उनसे नौकरी के नाम पर ठगी करता था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *