गणेशपुर रुड़की क्षेत्र की पार्षद स्वाती तोमर के कार्यालय पर फायरिंग करने वाले दो गिरफ्तार, बेइज्जती का बदला लेने के लिए की थी फायरिंग

रुड़की । कथित बेइज्जती का बदला लेने के लिए बाइक सवारों ने पार्षद कार्यालय पर फायरिंग की थी। पुलिस ने बाइक सवारों को गिरफ्तार कर लिया है। वारदात में प्रयुक्त देसी तमंचा पुलिस ने बरामद कर लिया है। जबकि बाइक को बरामद करने के प्रयास जारी हैं। सोमवार को आरोपियों को न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया गया। गंगनहर कोतवाली क्षेत्र के गणेशपुर निवासी कुलदीप तोमर का इकबालपुर गन्ना सोसाइटी के पास एसआर कॉन्प्लेक्स में पार्षद कार्यालय है। उनकी पत्नी पार्षद हैं। 29 अप्रैल शाम करीब चार बजे के आसपास बाइक सवार कार्यालय के पास पहुंचे थे। कार्यालय में विनय शर्मा निवासी गणेशपुर और दीपक चंचल निवासी पनियाला चंदापुर मौजूद थे। पीछे बैठे बाइक सवार ने कार्यालय पर फायरिंग की थी। फायर में छर्रा लगने से विनय शर्मा घायल हो गया था। फायरिंग की आवाज सुनकर क्षेत्र में हड़कंप मच गया था। वारदात के बाद पुलिस ने घटनास्थल पर पहुंचकर मामले की जांच की थी। आसपास के सीसीटीवी कैमरे में बाइक सवार कैद हो गए थे। पुलिस ने तहरीर के आधार पर अज्ञात बाइक सवारों के खिलाफ हत्या के प्रयास समेत अन्य धाराओं में केस दर्ज कर लिया था। पुलिस पूछताछ में सचिन ने बताया कि वह गणेशपुर में रहता है। किसी बात को लेकर कुलदीप पक्ष से विवाद हो गया था। विवाद में बातचीत करने के लिए वारदात से दो दिन पूर्व मिलने बुलाया गया था। जिसके बाद कुलदीप पक्ष की बात से सचिन नाराज था और उसने इसे अपनी बेइज्जती माना। सचिन ने साथी बंटी को पूरी कहानी बताई थी। बंटी ने दोस्त की बेइज्जती का बदला लेने के लिए कुलदीप पक्ष को डराने की नियत से फायरिंग की थी। दोनों ने देसी तमंचे और बाइक का इंतजाम किया। 29 अप्रैल को दोनों पूरी तैयारी के साथ मुंह ढककर गणेशपुर पहुंचे और प्लानिंग के तहत कार्यालय के बाहर फायरिंग कर फरार हो गए थे। इंस्पेक्टर ऐश्वर्य पाल ने बताया कि बंटी उर्फ बादल पुत्र सौराज सिंह गुर्जर निवासी शेरपुर खेलमऊ थाना झबरेड़ा और सचिन पुत्र सुशील निवासी मकान नम्बर 475 गणेशपुर को गिरफ्तार किया है। आरोपियों से देसी तमंचा बरामद किए है। जबकि वारदात के वक्त प्रयुक्त बाइक को बरामद करने के प्रयास जारी है। आरोपियों को न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया गया है। पुलिस टीम में जयवीर सिंह रावत, कांस्टेबल बबलू कुमार और देवेश कुमार शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.