परमपुरुष ही असली महिला रक्षक: बीके गीता, प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय में अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर आयोजित हुआ कार्यक्रम

रुड़की । प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय के रुड़की सेवा केन्द्र पर अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के उपलक्ष्य में आयोजित कार्यक्रम में सेवा केंद्र प्रभारी बीके गीता ने कहा कि महिलाएं अब अबला नही रही क्योंकि परमपुरुष परमात्मा उनका सबसे बड़ा रक्षक है।यदि महिलाएं परमात्मा की याद में रहे ,रोज़ राजयोग का अभ्यास करें तो उन्हें कभी किसी प्रकार का दुख हो ही नही सकता।उन्होंने कहा कि परमात्मा ने हम महिलाओं को विशेष बनाया है और हमे हमेशा परमात्मा की तरफ से नेतृत्व करने का अवसर प्राप्त हुआ है।ब्रह्माकुमारी संस्था में हमेशा नारी शक्ति को अग्रणी करके ही ईश्वरीय सेवा की जाती है,जो नारी की अदभुत क्षमता की ध्योतक है।उत्तराखंड राज्य महिला आयोग की पूर्व सदस्य राखी चन्द्रा ने कहा कि महिलाओं को अपने अधिकारों के प्रति सजग रहकर आत्म सम्मान से जीवन जीना चाहिए ,साथ ही अपने बच्चों में ऐसे संस्कार पैदा करे ताकि वे कल के अच्छे नागरिक बन सके।उन्होंने सवेरे उठकर योग करने और संयमित आहार लेकर सुखद जीवन बनाने की सलाह दी।राखी चन्द्रा ने ब्रह्माकुमारीज संस्था की मुक्त कंठ से प्रशंसा करते हुए विश्व शांति व महिला सम्मान में संस्था के योगदान को अभूतपूर्व बताया।बीएसएम लॉ कालेज की प्राचार्या अर्चना शर्मा ने महिलाओं से सम्बंधित कानून की जानकारी देते हुए कहा कि अब महिलाओं को शोषण व उत्पीड़न सहन करने के बजाए अन्याय के विरुद्ध आवाज उठानी चाहिए, साथ ही उन्होंने महिलाओं से परमात्मा को अपना साथी बनाने की सलाह दी।बीके प्रियंका के संचालन में अतिथि बहनों को सौगात भेंट कर सम्मानित भी किया गया।इस अवसर पर बड़ी संख्या में संस्था से जुड़ी बहने मौजूद रही।कार्यक्रम में कुमारी आशी त्यागी ने स्वागत नृत्य कर सबको मंत्रमुग्ध कर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *