वीरों की भूमि है उत्तराखंड, हर घर में जन्म लेता है एक सैनिक, सैनिक कल्याण एवं पुनर्वास ने शौर्य दिवस मनाया

हरिद्वार । जिला सैनिक कल्याण एवं पुनर्वास की ओर से शौर्य दिवस मनाया गया। कारगिल के शहीदों को पुष्पांजलि अर्पित कर श्रद्धा सुमन अर्पित किए। कोरोना काल के चलते इस बार भव्य कार्यक्रम का आयोजन न कर केवल कार्यालय में शहीदों को नमन किया गया। रविवार को शौर्य दिवस के अवसर पर तहसील परिसर स्थित जिला सैनिक कल्याण एवं पुनर्वास कार्यालय में जनपद के कारगिल युद्ध के शहीद राइफलमैन मानसिंह को पुष्पांजलि अर्पित कर और दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि दी गई इसके साथ ही अन्य शहीदों को भी श्रद्धांजलि अर्पित की जिला सैनिक कल्याण अधिकारी कमांडर आमोद कुमार चौधरी ने बताया कि 26 जुलाई 1999 में भारतीय सैनिकों ने कारगिल क्षेत्र में पाकिस्तानी घुसपैठ को नाकाम करते हुए विजय प्राप्त की थी। जिसको लेकर हर साल देश में कारगिल विजय दिवस शौर्य दिवस के रूप में मनाया जाता है। इस बार कोरोना संक्रमण के चलते भव्य कार्यक्रम का आयोजन नहीं किया गया। गाइडलाइन के मुताबिक ही सीमित संख्या में विभाग के अधिकारी-कर्मचारियों ने श्रद्धांजलि अर्पित की। इस दौरान पूर्व सूबेदार आर एस नेगी, एसके शर्मा, राजेश सिंह, सूर्यवंशी सत्येंद्र सिंह, मेहरबान सिंह आदि शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.