साध्वी डाॅ विश्वेश्वरी देवी के सानिध्य में बीइंग भगीरथ टीम ने शौर्य वन स्थापित किया, आतंकी हमले मे शहीद जवानों के नाम के पौधे रोपे

हरिद्वार । बीइंग भगीरथ की ऊर्जावान टीम ने कनखल स्तिथ गंगा वाटिका में पुलवामा शहीदों की याद में वृहद वृक्षरोपन कर शौर्य वन स्थापित किया। संस्थापक शिखर पालीवाल ने बताया की रविवार को बीइंग भागीरथ टीम के सदस्यों द्वारा पिछले वर्ष फरवरी माह में पुलवामा में हुए आतंकी हमले में 40 से अधिक सीआरपीएफ के जो जवान शहीद हो गए थे उनकी याद में वरक्षरोपण किया गया।टीम के 40 से अधिक सदस्यों ने उन 40 शहीदों के नाम से पेड़ लगाये जो पुलवामा हमले में शहीद हो गए थे और उनके देख रेख की जिम्मेदारी प्रत्येक सदस्य ने ली । शिखर पालीवाल ने बताया कि जम्मू कश्मीर में हुए इस हमले ने पूरे देश को झकझोर कर रख दिया था भले ही हमने उन 40 शहीदों को खो दिया परन्तु इन पेड़ को लगाकर हम उन्हें अपनी दुनिया मे जिंदा रखेंगे। इस अवसर पर विशवेश्वरी देवी जी का सानिध्य टीम को मिला उन्होंने इस वाटिका को शौर्य वाटिका का नाम दिया ।। साध्वी डा विश्वेश्वरी देवी ने कहा कि बीइंग भागीरथ के कार्यों से पिछले काफ़ी समय से अवगत हूँ और टीम द्वारा निरंतर रविवार को सभी को साथ लेकर पर्यावरण संरक्षण गंगा स्वच्छता व सौंदर्यकरण के प्रयास किए जा रहे हैं जो सभी को प्रेरणा देने वाले हैं । टीम द्वारा 3 ट्री अभियान चलाया जा रहा है जो स्वयं एक पौधा लगाकर अपने ३ मित्रों को प्रेरणा देना अपने आप मे एक अनूठी पहल है उन्होंने बताया की इसके अन्तर्गत उन्होने भी एक पेड़ लगाकर 3 ट्री अभियान में भाग लिया।बीइंग भगीरथ के सलाहकार अमित जांगिड़ ने कहा कि पेड़ों को जब तक हम अपने बेटे-बेटी की तरह से पालन-पोषण देखभाल नहीं करेंगे, तब तक पर्यावरण की सुरक्षा के प्रति पर्याप्त जागृति का अभाव ही रहेगा।राहुल गुप्ता जी ने कहाँ कि इन पौधों की देखभाल नियमित रूप से पानी देकर हम सभी टीम के सदस्य करेंगे।इस अवसर पर महिला विंग से मधु भाटिया जी,जनक सहगल,रुचिता उपाध्याय,सीमा चौहान,सपना आदि ने साध्वी जी का स्वागत किया व टीम से इंदरपाल जी,विपुल,कुणाल धवन,ओमशरण,रवि,अभिनव,दीपक,दिव्यांशु, गर्व, गोकुल, आदित्य, सागर, वेणु, हर्षद, दीपक, अंकित, राहुल, भूपेन्द्र., मोहित , क्षितिज, संदीप खन्ना, नमन, मानिक, धीरज, बबीता, आदित्य आदि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *