उत्तराखंड में मौसम फिर लेगा करवट, मौसम विभाग ने जारी किया आरेंज अलर्ट, बारिश और बर्फबारी होने के आसार

देहरादून । उत्तराखंड में एक बार फिर मौसम करवट बदल सकता है। प्रदेश के कुमाऊं क्षेत्र में भारी से बहुत भारी बारिश के आसार हैं। जबकि, देहरादून समेत गढ़वाल के कुछ जिलों में गरज के साथ ओलावृष्टि की आशंका है। मौसम विभाग ने इसको लेकर आरेंज अलर्ट जारी किया है। पिछले कुछ दिनों से उत्तराखंड के ज्यादातर क्षेत्रों में मौसम शुष्क है और चटख धूप खिल रही है। हालांकि, दोपहर बाद चल रही बर्फीली हवाएं कंपकंपी छुटा रही हैं। सुबह-शाम मैदानों में कोहरा और पहाड़ों में पाला दुश्वारियां बढ़ा रहा है। जिससे जनजीवन प्रभावित है। पिछले कुछ दिनों में पारे में मामूली इजाफा हुआ है, लेकिन कई इलाकों में कड़ाके की ठंड जारी है। उधर, कुमाऊं के मुनस्यारी और आसपास के इलाकों में मंगलवार को बादल छाए रहे। उच्च हिमालयी क्षेत्र में हल्का हिमपात भी हुआ। मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह के अनुसार, ताजा पश्चिमी विक्षोभ बुधवार से उत्तराखंड में सक्रिय हो सकता है। जिसके बाद नैनीताल, चंपावत, ऊधमसिंह नगर और आसपास के इलाकों में गुरुवार और शुक्रवार को भारी से बहुत भारी बारिश हो सकती है। जबकि, देहरादून, हरिद्वार और पौड़ी में ओले गिरने की आशंका है। इस दौरान तापमान में भी भारी गिरावट दर्ज की जा सकती है। हरिद्वार जिले में मौसम एक बार फिर से करवट लेगा। तीन से छह फरवरी के दौरान मध्यम से घने बादल छाए रहेंगे। साथ ही जिले में तीन, चार और पांच फरवरी को बारिश का पूर्वानुमान है। चार फरवरी को कुछ स्थानों पर भारी बरसात, गरज के साथ ओले एवं आकाशीय बिजली गिरने की संभावना है। वहीं रुड़की में भी तीन और चार फरवरी को बारिश का पूर्वानुमान है। तीन फरवरी को 1.3 मिमी और चार फरवरी को 16 मिमी बारिश की संभावना है। इसके अलावा पांच से दस किमी प्रति घंटे की रफ्तार से उत्तर-पूर्व दिशा से हवा चलेगी। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान रुड़की के जल संसाधन विकास एवं प्रबंधन विभाग में संचालित ग्रामीण कृषि-मौसम सेवा परियोजना के तकनीकी अधिकारी डा. अरविंद कुमार श्रीवास्तव के अनुसार बरसात, गरज के साथ ओले पड़ने और आकाशीय बिजली गिरने की संभावना को देखते हुए किसान खड़ी फसलों में सिंचाई और कीटनाशक रसायनों के छिड़काव से बचें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *