भाकियू (अ) उत्तराखंड महिला प्रदेश अध्यक्ष ने ज्वाइंट मजिस्ट्रेट को सौंपा ज्ञापन, डीजल व पेट्रोल के बढ़े दामों को वापस लिए जाने की मांग की

रुड़की । भाकियू (अ) उत्तराखंड महिला प्रदेश अध्यक्ष कोमल रानी ने महामहिम राष्ट्रपति को संबोधित एक ज्ञापन ज्वाइंट मजिस्ट्रेट रुडकी को सौपा है। ज्ञापन में डीजल व पेट्रोल के बढ़े दामों को वापस लिए जाने। डीजल पर किसानों को जोत के हिसाब से सब्सिडी दिए जाने। किसानों के सम्पूर्ण कर्ज माफ किये जाने। स्वामी नाथन रिपोर्ट सी टू के आधार पर लागू की जाने और बेरोजगार युवाओं के लिए रोजगार उपलब्ध कराया जाने के साथ ही कोरोना महामारी के दौरान बेरोजगार हुए लोगों के खाने की व्यवस्था किए जाने व मजदूरों को पेंशन दिए जाने की मांग की गई है। ज्ञापन देने वालों में मुख्य उत्तराखंड महिला प्रदेश अध्यक्ष कोमल रानी ,सत्य वती प्रदेश महासचिव, ब्लाक अध्यक्ष रीतू रानी ,मीरा धीमान प्रदेश सचिव ,कविता रावत प्रदेश उपाध्यक्ष मौजूद रही। वहीं दूसरी ओर, भाकियू अंबावत गुट की ओर से शुक्रवार को जिलाधिकारी कार्यालय पर धरना दिया जाना था। इसे लेकर शुक्रवार को भाकियू के कार्यकर्ता रोशनाबाद स्थित जिलाधिकारी कार्यालय जा रहे थे।इसकी जानकारी जब ज्वाइंट मजिस्ट्रेट नमामी बंसल को मिली तो उन्होंने कार्यकर्ताओं को रोक लिया। इसके बाद उन्होंने पदाधिकारियों से वार्ता की। किसानों ने कहा कि सरकार की ओर से अब तक गन्ने का भुगतान नहीं कराया गया है। साथ ही, डीजल के दाम में भी बेहताशा वृद्धि कर दी गई है। किसानों ने कई अन्य मांगे भी उनके सामने रखी। उन्होंने कहा कि वह तब तक डीएम के दफ्तर में तालाबंदी करेंगे, जब तक उनकी मांग नहीं मान ली जाती है। इस पर जेएम ने ज्ञापन लेते हुए किसानों को आश्वासन दिया कि डीएम से उनकी वार्ता कराई जाएगी। इस मौके पर प्रदेश अध्यक्ष विकास सैनी, राहुल सैनी, सुशील कुमार, देवी चन्द्र, फरमान त्यागी आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *