मुख्यमंत्री की मौजूदगी में कार्यभार संभालेंगे सुभाष वर्मा, सोमवार को होगा शपथ ग्रहण समारोह, सीएम के अलावा कैबिनेट मंत्री भी रहेंगे मौजूद

हरिद्वार । नवनिर्वाचित जिला पंचायत अध्यक्ष सुभाष वर्मा मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की मौजूदगी में जिला पंचायत अध्यक्ष का कार्यभार ग्रहण करेंगे। मुख्यमंत्री के अलावा कैबिनेट मंत्री भी शपथ ग्रहण समारोह में मौजूद रहेंगे। शपथ ग्रहण समारोह सोमवार को होगा । सभी तैयारियां पूर्ण कर ली गई है। भाजपा कार्यकर्ता और जिला पंचायत सदस्यों में खासा उत्साह देखा जा रहा है। सुभाष वर्मा ने जिला पंचायत अध्यक्ष पद पर जीत हासिल की है। उनकी जीत से जहां भाजपा कार्यकतार्ओं में भारी उत्साह है वहीं मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत और पार्टी के अन्य सभी नेता काफी प्रसन्न हैं। दरअसल भाजपा समर्थित जिला पंचायत अध्यक्ष काफी समय के बाद बना है। इसीलिए पंचायत राजनीति में भाजपा की धमाकेदार इस दस्तक से हलचल मची है। क्योंकि वर्ष 2020 में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव होने हैं। इस लिहाज से भी सुभाष वर्मा के जिला पंचायत अध्यक्ष पद पर निर्वाचित होना काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत और भाजपा संगठन भाजपा की इस जीत को लगातार बनाए रखने के प्रयास में है। माना जा रहा है कि से लिए मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत खुद सुभाष वर्मा को जिला पंचायत अध्यक्ष का कार्यभार ग्रहण कराने आ रहे हैं। ताकि भाजपा कार्यकतार्ओं में भी एक मैसेज चला जाए कि पंचायत की राजनीति पार्टी के लिए उतना ही मायने रखती है जितना कि विधानसभा और लोकसभा की सियासत। इसीलिए भाजपा संगठन के पदाधिकारी ,पूर्व पदाधिकारी और कार्यकर्ता सभी अभी से वर्ष 2020 के अंत में होने वाले त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए प्रयास शुरू कर दें। जानकारी के लिए बता दें कि सुभाष वर्मा, मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के करीबी माने जाते हैं। फिलहाल जो सुभाष वर्मा ने जिला पंचायत अध्यक्ष पद पर जीत हासिल की है। वह मुख्यमंत्री की टीम की बड़ी सफलता मानी जा रही है। हालांकि पूर्व विधायक हाजी मोहम्मद शहजाद , सुभाष वर्मा को जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव में बीच में ही छोड़कर पूर्व जिला पंचायत हरिद्वार चौधरी राजेंद्र सिंह से जा मिले थे। लेकिन इसके बाद भी मुख्यमंत्री की टीम ने जिला पंचायत अध्यक्ष का चुनाव बड़े ही अच्छे ढंग से जीता। इससे कहीं ना कहीं सुभाष वर्मा का हरिद्वार जिले की सियासत में कद बढ़ा है । साथ ही मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की टीम काबे रुतबा बढ़ा है। राजनीतिक जानकार मान रहे हैं कि सुभाष वर्मा फिलहाल जिले की सियासत में बड़ा नाम हो गया है। जिला पंचायत अध्यक्ष पद जिले की सियासत में सबसे महत्वपूर्ण पद है। उस पर सुभाष वर्मा की ताजपोशी होना किसी बड़ी उपलब्धि से कम नहीं है। जानकारी मिली है कि शपथ ग्रहण समारोह के बाद मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत वहां मौजूद लोगों से रूबरू हुए होंगे। जिसमें वह एक बड़ा संदेश यह भी देंगे कि जिला पंचायत में अब पहले की तरह है भ्रष्टाचार चलने वाला नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *