जहरीली शराब से काली हुई दीपावली, तीन दिनों में 26 की मौत, बहुत हुआ अब जबरदस्‍त एक्‍शन लेंगे सीएम

जहरीली शराब से काली हुई दीपावली, तीन दिनों में 26 की मौत, बहुत हुआ अब जबरदस्‍त एक्‍शन लेंगे सीएम

पटना । बिहार के गोपालगंज में बुधवार को जहरीली शराब पीने से 11 लोगों की मौत के बाद गुरुवार से शुक्रवार तक पश्चिम चंपारण के नौतन में 15 की मौत हो गई। पश्चिम चंपारण में दीपावली के दिन मरने वाले 15 लोगों के घरों में जहरीली शराब का अंधेरा छा गया। शराबबंदी वाले बिहार में बीते तीन दिनों के दरम्‍यान जहरीली शराब पीने से 26 लोगों की मौत हो चुकी है। साल 2021 की बात करें तो अब तक जहरीली शराब करीब 90 लोगों की जान ले चुकी है। हालांकि, विभागीय मंत्री सुनील कुमार के अनुसार सरकारी आंकड़े में इस साल की मौतों का आंकड़ा 40 है। ऐसी घटनाओं को लेकर विपक्ष मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार की शराबबंदी को फेल बताते हुए सरकार पर हमलावर है तो सत्‍ताधारी जनता दल यूनाइटेड ने कहा है कि मुख्‍यमंत्री अवैध शराब की घटनाओं को लेकर गंभीर हैं। मुख्‍यमंत्री ने भी शुक्रवार को छठ के बाद शराबबंदी की समीक्षा करने तथा सख्‍त कार्रवाई करने की घोषणा कर दी है। गौरतलब तथ्‍य यह भी है कि शराबबंदी के बाद से बिहार में अब तक जहरीली शराब से सर्वाधिक मौतें इसी साल हुई हैं। इसके पहले शराबबंदी के बाद साल 2016 से 2020 तक जहरीली शराब के कारण 35 लोगों की मौत हुई थी। पश्चिम चंपारण के नौतन प्रखंड के बेलवा गांव में दीपावली की पूर्व रात्रि से बभी तक संदिग्ध परिस्थितियों में 15 लोगों की मौत हो गई है। सूत्रों के अनुसार बीती रात जहरीली शराब पीने से हनुमत सिंह, महराज यादव, बच्चा यादव, मुकेश पासवान, जवाहिर सहनी, रमेश सहनी एवं उमा साह की मौत की हो गयी। उमा साह की मौत का कारण स्वजन बीमारी बता रहे हैं। दूसरी ओर गांव के लोगों की मानें तो सबों की मौत जहरीली शराब पीने से हुई है। शुक्रवार की सुबह तक मौत के आंकड़े बढ़कर 15 तक पहुंच गए हैं। कई बीमार लोगों की गंभीर स्थिति को देखते हुए मरने वालों की संख्‍या बढ़ने की आशंका है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.