भगवानपुर तहसील में एडवोकेट पर बिना निर्वाचन के टीम बनाने का आरोप, एडवोकेट अनुभव चौधरी ने बार काउंसिल आॅफ उत्तराखंड को पत्र भेजकर की कार्रवाई की मांग

भगवानपुर । एडवोकेट अनुभव चौधरी ने बार काउंसिल आॅफ उत्तराखंड और बार काउंसिल आॅफ दिल्ली को पत्र लिखकर पल्टूराम पर कार्रवाई की मांग की है। पल्टूराम पर बिना निर्वाचन के टीम व अध्यक्ष पद पर काबिज होने का आरोप है। पत्र में लिखा कि 2014 से स्थापित तहसील भगवानपुर में एक ही व्यक्ति बार संघ के अध्यक्ष के रूप में काबिज है जिसका नाम एडवोकेट पल्टूराम है व उसके द्वारा बिना किसी निर्वाचन के अपनी टीम बनाई हुई है। लगभग पिछले 05 वर्षो से उक्त बार का ना तो कोई रजिस्ट्रेशन है ओर ना ही बार काउंसिल ऑफ उत्तराखण्ड से एफीलेशन कराया हुआ है बावजूद इसके उक्त कथित अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष वकालतनामे के 100/-रू लेते है ओर 240/-रू सदस्यता शुल्क लेते है। लेकिन आज तक कोई भी कार्य बार की तरफ से नही किया गया है, ओर न ही कोई अधिवक्ता कल्याण के रूप में धनराशि खर्च की गई है। उक्त लोग सारी धनराशि को अपनी मोज-मस्ती पर खर्च करते है, उक्त बार का कथित कोषाध्यक्ष एडवोकेट ऋतुराज वकालतनामें स्वयं अपने पास रखता है जब कोई एडवोकेट या मुशी या उसका कोई क्लाईट वकालतनामा लेने जाता है वह उसके साथ दुव्यवहार करता है। ओर वकालतनामे बिना कल्याणकारी टिकट के विक्रय करता है, उक्त लोगो द्वारा चंदे एवं वकालतनामें से अलग धनराशि बार को रजिस्टर्ड कराने के लिए कई बार एकत्रित की गई है लेकिन बार का रजिस्ट्रेशन आज तक नही हो पाया है। तहसील में कार्यरत एडवोकेट अपने साथ हो रही अवैध उगाही/धोखाधडी काफी परेशान है जिसके विरूद्ध तत्काल कार्यवाही की जानी आवश्यक है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *