परीक्षा की तैयारी के लिए विद्यार्थियों का मनोबल बढ़ाने डीएवी हरिद्वार पहुंचे रणबीर सिंह, आगामी बोर्ड परीक्षा के लिए बढ़ाया मनोबल, बच्चों से मोबाइल, सोशल मीडिया आदि से दूरी बनाकर रखने को कहा

हरिद्वार । सीबीएसई देहरादून क्षेत्रीय अधिकारी रणबीर सिंह मंगलवार को डीएवी सेन्टेनरी पब्लिक स्कूल हरिद्वार पहुँचे। उनके आगमन पर विद्यालय के प्रधानाचार्य पी.सी. पुरोहित ने अध्यापकगणों के साथ उनका स्वागत किया। तत्पश्चात् मंच पर विद्यालय के विद्यार्थियों द्वारा स्वागत के लिए एक सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया गया। जिसके अंतर्गत कक्षा छः से कक्षा आठ तक के विद्यार्थियों ने अपने अतिथिगणों के लिए सुन्दर स्वागत गीत प्रस्तुत कर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया गया। कक्षा ग्यारहवीं एवं बारहवीं की छात्राओं ने परमात्मा से कार्यक्रम की सफलता के लिए मंगलकामना गीत पर मनोहारी नृत्य प्रस्तुत कर सभी उपस्थित अभिभावकों एवं उपस्थितजनों की तालियाँ बटोरी। कक्षा छः से कक्षा बारहवी तक के विद्यार्थियों ने अपने राष्ट्रप्रेम की भावना को दर्शाते हुए राष्ट्रभक्ति पर सुन्दर नृत्य प्रस्तुत कर सभी की आँखों को नम कर दिया वहीं छात्राओं ने नारी सशक्तिकरण पर एक अत्यन्त भावनात्मक सामूहिक गान प्रस्तुत कर दर्शकों के मन को मोह लिया। सभी सांस्कृतिक कार्यक्रमों के उपरान्त रणबीर सिंह ने कक्षा दसवीं एवं बारहवीं के विद्यार्थियों एवं उनके अभिभावकों को सम्बोधित करते हुए आगामी बोर्ड परीक्षा के लिए उनका मनोबल बढ़ाया। रणबीर सिंह उत्तराखण्ड के साधारण संयुक्त परिवार से सम्बन्ध रखते हैं। उन्होने दैनिक जीवन से कई अत्यन्त सरल उदाहरण लेते हुए विद्यार्थियों को परिश्रम के लिए प्रेरित किया। पूर्व राष्ट्रपति डाॅ. अब्दुल कलाम, इसरो चीफ डाॅ. के. सीवान, पर्वतारोही अरूणिमा सिन्हा, फिल्म अभिनेता अमिताभ बच्चन आदि के उदाहरणों से बच्चों को प्रोत्साहित किया। आधुनिक नारी शक्ति के रूप में उन्होंने जैट फाइटर पाॅयलट अवनि चतुर्वेदी, भावना कण्ठ एवं मोहना सिंह का उदाहरण देते हुए बच्चों को उनके लक्ष्य पर ध्यान केन्द्रित करने के लिए समझाया। सिंह ने बच्चों से मोबाइल, सोशल मीडिया आदि से दूरी बनाकर रखने को कहा तथा परिश्रम को सफलता की कुंजी बताया। उन्होने एक विद्यार्थी की पाँच विशेषताओं का भी उल्लेख किया। एक विद्यार्थी को कौवे की तरह जानने की चेष्टा, बगुले की तरह ध्यान, श्वान की भाँति निद्रा, आवश्यकतानुसार खाने वाला तथा गृहत्यागी होना चाहिए। विद्यार्थियों को समझाते हुए कहा कि हमें नई तकनीक का लाभ अवश्य उठाना चाहिए किन्तु उसके दुरूपयोग से बचना चाहिए। बोर्ड परीक्षा से सम्बन्धित अनेक प्रश्नों के उत्तर देकर विद्यार्थियों के परीक्षा भय को दूर किया। अपनी मातृभाषा के सम्मान के लिए सीख दी, माता-पिता एवं गुरूजनों को भगवान समान मानते हुए उनकी आज्ञा पालन करने के लिए कहा। सतत् प्रयास से जीवन में कुछ भी हासिल किया जा सकता है इन्हीं विचारों को उन्होनें बच्चों तक पहुँचाने का प्रयास किया। बच्चों से संवाद स्थापित करते हुए उन्होने पढ़ाई को बोझ न मानकर अपनी रूचि के अनुसार विषय चयन कर पढ़ने के लिए कहा। परिश्रम के बल पर बच्चे आकाश की ऊँचाईयों को छू सकते हैं। उत्तराखण्ड से निकले सफल व्यक्तित्वों पर भी उन्होने चर्चा की, जिसमें सेनाध्यक्ष विपिन रावत, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल आदि का उदाहरण दिया।

उन्होनें अभिभावकों से भी आग्रह किया कि वे अपनी व्यस्त दिनचर्या से बच्चों के लिए समय निकालें, उनकी कठिनाइयों को जानने का प्रयास करें तथा उनका मनोबल बढ़ाएं और उन्हें मोबाइल एवं इंटरनैट से दूर रखने का प्रयास करें। उन्होने सभी विषयों के अध्यापकों से अनुरोध किया कि वे कक्षा में विषय अध्यापन के साथ-साथ बच्चों का मनोबल और उत्साह बढ़ाने के लिए कुछ देर जरूर चर्चा करें। वर्ष 2018-2019 में कक्षा दसवीं की बोर्ड परीक्षा में 98 प्रतिशत एवं उससे अधिक अंक प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों निकुंज कंसल, सार्थक कलंकार, सान्या अग्रवाल, मेघना अरोड़ा, अंकिता गोयल एवं आरूषि बिष्ट को प्रशस्ति पत्र एवं पुरस्कार प्रदान किए गए। विद्यालय में पूरे वर्ष सदनानुसार होने वाले कार्यक्रमों में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले कृष्णा सदन को प्रथम, नर्मदा सदन को द्वितीय, सतलुज सदन को तृतीय एवं गंगा सदन को चतुर्थ पुरस्कार से सम्मानित किया गया। रणबीर सिंह ने विद्यालय के पूर्व बोर्ड परीक्षा परिणाम के लिए प्रधानाचार्य एवं अध्यापकगणों को बधाई दी और भविष्य के लिए शुभकामनाएं दी। इस अवसर पर विद्यालय के एलएमसी सदस्य एम.एल. अरोड़ा, सीबीएसई की सिटी काॅओर्डिनेटर किरण शर्मा आदि उपस्थित रहे। कार्यक्रम के अन्त में प्रधानाचार्य पी.सी. पुरोहित ने रणबीर सिंह के सरल सौम्य व्यक्तित्व की सराहना करते हुए उनके आगमन को विद्यालय का सौभाग्य बताया। प्रधानाचार्य ने उपस्थित एलएमसी सदस्यों, सभी अभिभावकों, अध्यापकों का धन्यवाद किया। विद्यार्थियों को आगामी बोर्ड परीक्षा के लिए शुभकामनाएं दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *