रंगोली रंगों के माध्यम से अपनी बात कहने का सशक्त माध्यम: डाॅ. बत्रा, महाविद्यालय ने किया रंगोली प्रतियोगिता का आयोजन, अनवांडेट टच टीम को दिया गया प्रतियोगिता में ज्यूरी स्पेशल पुरस्कार

हरिद्वार । स्थानीय एस.एम.जे.एन. काॅलेज में ‘आज युवा चेतना पखवाड़े’ के अन्तर्गत रंगोली प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। प्रतियोगिता में 28 प्रतिभागियांे ने प्रतिभाग किया जिसमें टीम 1 में शबनम एम.ए. प्रथम व आमिर बी.ए. प्रथम, टीम 2 में कु. निधि, कु. गुंजन पाण्डेय, कु. नवनीत कौर, कु. युक्ता गुजराल, कु. ज्योति समस्त बी.एससी तृतीय, टीम 3 में कु. खुशी जैन, कु. सौम्या अग्रवाल, कु. खुशी केशवानी, कु. शगुन गोयल, कु. अक्षिता गोस्वामी, कु. विधि गौतम, कु. साक्षी, कु. आकांक्षा समस्त बी.काॅम. प्रथम, टीम 4 में कु. मनीषा अग्रवाल, कु. नविशा अग्रवाल, कु. किरण, कु. पूजा समस्त बी.ए. प्रथम, टीम 5 में गौरव बंसल बी.काॅम., टीम 6 में कु. निधि यादव, कु. आरती रावत, कु. रीतिका सिंह समस्त बी.काॅम. प्रथम, टीम 7 में संतोष, अजय कुमार समस्त एम.ए. तृतीय तथा टीम 8 में कु. रिया बड़ेवाल, कुलदीप व कु. अफशाना समस्त बी.काॅम. पंचम सेमेस्टर सहित अनेक छात्र-छात्राओं ने कोविड-19 के दिशा-निर्देशों के अनुरूप प्रतिभाग किया। छात्र-छात्राओं ने अपनी रंगोली की कला के माध्यम से विभिन्न सन्देश देने का कार्य किया जिसमें ‘पीकाॅक विद लेडी’, ‘कोरोना वारियर्स’, नो ड्रग्स, नो चाईल्ड लेबर, स्टाॅप रेप, नेताजी सुभाष चन्द्र बोस, अनवांटेड टच, फेस्टिवल रंगोली आदि आकर्षण का केन्द्र रहे। रंगोली प्रतियोगिता में अनवांडेट टच टीम को ज्यूरी स्पेशल पुरस्कार दिया गया, इसके अतिरिक्त कोरोना वारियर्स व नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की रंगोली बनाने वाली टीम 2 टीम 5 ने प्रथम स्थान, नो ड्रग्स एण्ड नो चाईल्ड लेवर व स्टाॅप रेप की रंगोली बनाने वाली टीम 3 व टीम 4 ने द्वितीय स्थान तथा पीकाॅक विद लेडी व फेस्टिवल रंगोली बनाने वाली टीम 1 व टीम 7 ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। टीम 8 को सांत्वना पुरस्कार प्रदान किया गया। निर्णायक मण्डल की अहम् भूमिका का निवर्हन सी.ए. चित्रा नाहटा, सी.ए. नितिन कुमार भटनागर, डाॅ. विनीता चैहान, अंकित अग्रवाल, पंकज यादव आदि ने किया। इस अवसर पर काॅलेज के प्राचार्य डाॅ. सुनील कुमार बत्रा ने समस्त प्रतिभागियों को अपनी शुभकामनाएं देते हुए कहा कि रंगोली की कला परम्परागत भारतीय कला देहातों से निकलकर शहरों तक में छायी हुई है। रंगोली केवल रंग नहीं अपितु अपनी बात कहने का सशक्त माध्यम भी है। डाॅ. बत्रा ने हर्ष व्यक्त करते हुए कहा कि रंगोली प्रतियोगिता में छात्र-छात्राओं ने उत्साहपूर्वक प्रतिभाग कर अपने-अपने संदेशों को रंगोली के माध्यम से प्रस्तुत किया। मुख्य अनुशासन अधिकारी डाॅ. सरस्वती पाठक ने सभी प्रतिभागियों को अपनी शुभकमनायें देते हुए आशा व्यक्त की कि छात्र-छात्रा अपनी कला के माध्यम से अपने महाविद्यालय व परिवार को नाम गौरवान्वित करेंगे। मुख्य अधिष्ठाता छात्र कल्याण डाॅ. संजय माहेश्वरी ने छात्र-छात्राओं को बधाई दी व कहा कि शैक्षणिक गतिविधियाँ महाविद्यालय में होनी चाहिए इनके बिना शिक्षा अधूरी है।
इस अवसर पर डाॅ. जगदीश चन्द्र आर्य, विनय थपलियाल, वैभव बत्रा, कार्यालय अधीक्षक मोहन चन्द्र पाण्डेय, श्रीमती हेमवंती पोखरिया, संजीत कुमार, होशियार सिंह चौहान आदि ने अपनी शुभकामनायें प्रेषित की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *