देवभूमि में बोले राहुल गांधी – कांग्रेस उत्तराखंड में किसान, मजदूर व गरीबों के साथ पार्टनरशिप चाहती है

देहरादून । उत्तराखंड में चुनाव प्रचार पूरे जोरों पर है। सभी पार्टियां अपने स्टार प्रचारकों को अपने क्षेत्रों में बुलाकर जनता को अपने पक्ष में मतदान को प्रेरित कर रहीं। इस समय ऊधमसिंह नगर में भाजपा की तरफ से सांसद, भोजपुरी कलाकार मनोज तिवारी मौजूद हैं। वहीं दूसरी ओर शनिवार को राहुल गांधी भी किच्छा में पहुंच चुके हैं। वह किसानों को संबोधित कर रहे हैं। ऊधमसिंह नगर कुमाऊं की तराई बेल्ट है। यहां सर्वाधिक किसान वोट हैं। अभी खत्म हुए किसान आंदोलन की तासीर गर्म है, जिसे कांग्रेस भुनाना चाहती है। राहुल गांधी ने सबसे पहले ऊधम सिंह नगर व नैनीताल जिले के कुछ प्रत्याशियों का नाम लिया और किसानों को बधाई दी। उन्होंने कहा कि इन तीन कानूनों के खिलाफ पत्थर जैसे, पहाड़ जैसे खड़े हो गए। आपने एक इंच इनको नहीं दिया। कोई समझौता नहीं किया। एक कदम पीछे नहीं लिया। आपने हिंदुस्तान की सरकार को सच्चाई दिखाई। इसके लिए बधाई। हम आपके साथ उत्तराखंड में पार्टनशिप चाहते हैं। किसानों, मजदूरों, गरीबों, सभी के साथ। जहां हम दिल खोलकर कह सकते हैं। गोवा में हमने जो किया वह उत्तराखंड में भी करेंगे। सबसे गरीब लोगों के खाते में पैसा डायरेक्ट खाते में डाल देगी। छत्तीसगढ़ व मध्य प्रदेश में भी हमने कहा। हमने मैनिफेस्टो में जो लिख दिया है। उस मुख्यमंत्री को करना होगा। मोदी ने कहा था, काले धन को मिटा दूंगा, लेकिन जो किसानों का है। उसे दो मित्रों को पकड़ा दूंगा। संसद में अपने भाषण में मैंने कहा, दो हिंदुस्तान बन रहे है। एक अमीरों का हिंदुस्तान। जिन्हें कानूनों से कोई लेना-देना नहीं। कुछ भी कर सकते हैं। किसी की जमीन भी हड़प सकते हैं। इसमें बहुत लोग नहीं, बल्कि 100-200 लोग हैं। आज भारत में 100 लोगों के पास हिंदुस्तान के 40 प्रतिशत लोगों से ज्यादा धन है। ऐसी विभिन्नता किसी और देश में नहीं है। दूसरा हिंदुस्तान गरीबों, किसानों व मजदूरों का है। उसमें आपको रोजगार नहीं मिलेगा। जमीन छीनी जाएगी। पेट्रोल डीजल के दाम बढ़ेंगे। हम दो हिंदुस्तान नहीं, एक हिंदुस्तान चाहते हैं। एक दौर था, जिसे स्वर्णिम कहा जाता था। इसलिए कि किसानों व सरकार साझेदारी के साथ काम करती थी। उस समय के हिंदुस्तान में पीएम सुनता है, लेकिन आज मोदी प्रधानमंत्री नहीं हैं। नरेन्द्र मोदी सोचते हैं, राजा निर्णय लेता है तो जनता को चुप रहना चाहिए। अगर जनता चुप नहीं रहती है तो ईडी, सीबीआइ, पुलिस, पेगासस सब शुरू हो जाता है। जो नरेंन्द्र मोदी ने आपके साथ किया। आपको एक साल अकेला सड़क पर ठंड में कोविड के समय खड़ा कर दिया। कांग्रेस सरकार खत्म हो जाएगी। मर जाएगी, लेकिन ऐसा कभी नहीं करेगी। इससे पूर्व कांग्रेस के पूर्व सीएम हरीश रावत ने कहा कि राहुल गांधी का उत्तराखंड से विशेष नाता रहा है। आपके नाना पंडित जवाहर लाल नेहरू और पंडित गोविंद बल्लभ पंत ने इस क्षेत्र को बसाया था। इसे तराई के नाम से जाता है। इस क्षेत्र की पंतनगर विश्वविद्यालय भी कांग्रेस की ही देन है। हरित क्रांति से लेकर श्वेत क्रांति, यानी जितनी भी क्रांति हुई। इसकी श्रेय पूर्व पीएम इंदिरा गांधी को जाता है। जब आपदा आई थी। तब भी आप (राहुल गांधी) हमारे आंसू पोंछने आए। आपका यह एहसान उत्तराखंड कभी नहीं भूलेगा। जब किसानों पर काले कानून थोपे गए थे। जो पहली आवाज उठी। वह राहुल गांधी की थी। आपकी आवाज से ही किसानों ने आंदोलन शुरू किया था। आंदोलन सफल रहा। किसानों के लिए हरीश रावत ने कहा कि आंदोलन के दौरान जिन किसानों पर मुकदमा दर्ज हुआ है। हमारी सरकार बनने पर उन मुकदमों को वापस लेंगे। हमारी सरकार एमएसपी को लागू करेगी। साथ ही राज्य में हमारी सरकार 100 यूनिट बिजली फ्री देंगे। किच्छा में आयोजित कार्यक्रम में कांग्रेस ने सबसे पहले किसान से भाषण की शुरुआत की कराई। किसान ने कहा कि पहले फसलों के दाम कम थे। केंद्र में बैठी सरकार ने महंगाई कई गुना बढ़ा दी है। यह सरकार कहती थी कि 2022 तक किसानों की आमदनी दोगुनी कर दी जाएगी, लेकिन कहना चाहता हूं कि दो हजार की भीख से कुछ नहीं होगा। एमएसपी लागू किया जाए। किसान कांग्रेस के अध्यक्ष सुशील राठी के अलावा उधम सिंह नगर जिलाध्यक्ष जितेंद्र शर्मा आदि नेताओं ने राहुल गांधी का बुके व प्रतीक चिन्ह भेंट कर स्वागत किया। नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि आज किसान सड़कों पर संघर्ष करने को मजबूर हैं। आंदोलन के दौरान 700 किसानों की शहादत हुई, लेकिन सत्ता में बैठे लोगों ने शहादत पर कुछ नहीं बोला। प्रधानमंंत्री मन की बातें सुनाते हैं, लेकिन उन्हेांने किसानों के मन की बातें नहीं सुनी। 2022 में सूबे में कांग्रेस की सरकार बनने जा रही है। इसमें किसानों का अहम योगदान होगा। जब हमारी सरकार बनेगी। निश्चित रूप से हम किसानों के हितों को संरक्षित करने का काम करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *