देवबंद का नाम बदलकर देववृंद की मुहिम को गांव-गांव तक लेकर जाया जाएगा, बजरंग दल के संयोजक विकास त्यागी ने कहा यह चुनावी मुद्दा नहीं हिंदुओं की आस्था से जुड़ा हुआ है

सहारनपुर । बजरंग दल के प्रांत संयोजक विकास त्यागी ने कहा है कि देवबंद का नाम बदलकर देववृंद की मुहिम को गांव-गांव तक लेकर जाया जाएगा और जब तक सरकार देवबंद का नाम परिवर्तित नहीं करती जब तक जारी रहेगी। विकास त्यागी ने कहा यह मुद्दा चुनावी मुद्दा नहीं है बल्कि हिंदुओं की आस्था से जुड़ा हुआ है क्योंकि देवबंद नाम देवता बंद से है और देवता बंद नहीं रह सकते देववृंद का अर्थ देवताओं के वन से है और प्राचीन काल में इस स्थान पर घने वन ही थे। इसीलिए महाभारत के समय में पांडव वनवास के दौरान इन्ही घने वनों में कुछ समय के लिए यहा आकर रुके थे। ऐसा उल्लेख हमारे पौराणिक शास्त्रों में मिलता है। विकास त्यागी ने कहा है कि देवबंद की पहचान कुछ लोग दारुल उलूम के कारण बताते हैं जबकि यह गलत है। क्योंकि दारुल उलूम का इतिहास तो एक सौ डेढ सौ वर्षो का ही होगा। जबकि देवबंद का इतिहास तो हजारों वर्ष पुराना है। बल्कि दारुल उलूम के कारण तो देवबंद दुनिया में बदनाम हो चुका है क्योंकि कई बार आतंकियों के संपर्क यहां से मिले हैं। विकास त्यागी ने कहा है कि योगी सरकार जैसे अन्य मुगलकालीन स्थानों के नाम बदलकर प्राचीन नाम पर कर रही है। उसी प्रकार देवबंद का नाम भी प्राचीन एवं पौराणिक नाम देववृंद भी किया जाना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.