जिला स्तरीय दिव्यांगता समिति का गठन किया, दिव्यांग जनों की समस्याओं और शासन- प्रशासन से दी जाने वाली योजनाओं के प्रभावी क्रियान्वयन की निगरानी की जाएगी

हरिद्वार । उत्तराखण्ड शासन के निर्देशानुसार जनपद हरिद्वार में जिला स्तरीय दिव्यांगता समिति का गठन किया गया है। समिति के माध्यम से जनपद मे दिव्यांग जनों की समस्याओं और शासन- प्रशासन से दी जाने वाली योजनाओं के प्रभावी क्रियान्वयन की निगरानी की जायेगी। समिति की बैठक प्रत्येक माह जिला समाज कल्याण विभाग की ओर से आयोजित की जाएगी । समिति के अध्यक्ष जिलाधिकारी होंगे योजनओं से सम्बंधित विभागों के अधिकारियों सहित, विभिन्न प्रकार की दिव्यांगताओं से ग्रसित व्यक्तियों के प्रतिनिधि के रूप में दिव्यांग संगठनों के पदाधिकारी समिति के सदस्य होंगे। समिति दिव्यांग व्यक्तियों के पुनर्वास और सशक्तिकरण से सम्बन्धित मामलों पर जिला प्रशासन को सलाह देगी, अधिनियम के नियमों और उपनियमों के कार्यान्वयन की निगरानी करेगी। किसी प्राधिकारी द्वारा अधिनियम के प्राविधानों के क्रियान्वयन न किये जाने से सम्बन्धित शिकायतों पर विचार, शिकायतों के निवारण हेतु उचित उपाय सुझाना एवं राज्य सरकार द्वारा सौंपे गये अन्य कार्य करेगी। जिलाधिकारी ने बैठक में चिकित्सा, शिक्षा, समाज कल्याण तीनों विभागों से जनपद में दिव्यांगता सर्टीफिकेट प्राप्त दिव्यांग, जनपद के कुल दिव्यांग, जनपद के कुल दिव्यांग छात्र तथा जनपद में पेंशन पा रहे कुल दिव्यांगों का पूर्ण और स्पष्ट डाटा आज संाय तक उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। उन्होंने दिव्यांगों के लिए बनायी के समिति का लाभ दिव्यांगों को मिले इसके लिए इन विभागों से सत्यापन कार्यो को करते हुए पूर्ण सत्यापित जानकारी उपलब्ध कराने को कहा।  उन्होंने विभिन्न दिव्यांग संगठनों से आये पदाधिकारियों से कहा कि आप सभी अपने क्षेत्र के बीामारी से ग्रसित दिव्यांगजनों की सूचना भी उपलब्ध करायें जिससे इन सभी की कोरोना जांच प्राथमिकता से करायी जा सके। जिलाधिकारी ने दिव्यांगों के प्रति होने वाले अपराधों पर प्रभावी नियंत्रण के लिए एक टोल फ्री नम्बर जारी किये जाने के भी निर्देश दिये। डीएम ने ट्रांसजेण्डर वर्ग के लिए भी पृथक से एक समिति का गठन किये जाने के लिए समाज कल्याण विभाग को कहा। उन्होंने सभी दिव्यांग संगठनों से कहा कि आप सभी एकजुट होकर एक आवाज बनें। उन जरूरतमंदों की आवाज एक स्वर में उठायी जाये।समिति बैठक में सभी दिव्यांग संगठनों ने सरकारी चिकित्सालयों में पुर्नवास केंद्र स्थापित किये जाने हरिद्वार में स्थापित औद्योगिक इकाईयांे में दिव्यांगों के लिए पद आरक्षित किये जाने, मूक बधिरों के लिए इंटरप्रेटर नियुक्त किये जाने सम्बंधि मांग जिलाधिकारी से की। बैठक में एसीएमओं डाॅ एसडी शाक्य, जिला समाज कल्याण अधिकारी नरेंद्र यादव, बेसिक शिक्षा अधिकारी ब्रम्हपाल सैनी सहित संदीप अरोड़ा अध्यक्ष देवभूमि एसोसिएशन उत्तराखण्ड हरिद्वार, अमित धीमान सदस्य देवभूमि एसोसिएशन उत्तराखण्ड हरिद्वार, सलीम मलिक अध्यक्ष जनहित दिव्यांग सेवा समिति लक्सर हरिद्वार, सुन्दर लाल गौतम जनहित दिव्यांग सेवा समिति लक्सर हरिद्वार एवं अरूण कुमार अध्यक्ष जन दिव्यांग सहायता ट्रस्ट हरिद्वार उपस्थित रहे। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.