देहरादून में गरजे अमित शाह- बोले कांग्रेस चार धाम चार काम नही करेंगे, केवल चार दाम मांगने वाले हो जाएंगे, विधायक, मंत्री, मुख्यमंत्री और दिल्ली में बैठा परिवार वसूली करेगा

देहरादून । गृहमंत्री अमित शाह देहरादून के रायपुर में जनसभा को संबोधित करने पहुंच गए हैं। इस दौरान उन्होंने सबसे पहले देरी से पहुंचने के लिए लोगों से माफी मांगी। कहा कि मौसम के कारण देरी हुई है। शाह ने कहा कि मैं तो गुजरात से आता हूं। वहां एक भी घर ऐसा नहीं होगा जो देवभूमि न आया होगा। वहां के लोग पीतल की लुटिया में गंगोत्री से जल न लेकर गया हो। देवभूमि की बात याद आते ही छोटे से छोटे बच्चे को चारधाम और हेमकुंड साहिब याद आ जाता है। जब भी देश की सुरक्षा की बात आती है। किसी भी सीमा पर चले जाओ, उत्तराखंड और पंजाब से बेटे जाकर मां भारत की सेवा करते हैं। गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि यूपी में दूसरी पार्टियों का सूपड़ा साफ होगा और यहां भी कमल खिलेगा। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी में लॉकडॉउन के अलावा कोई रास्ता नहीं था। कोई दवाई नहीं बनी हुई थी। मजबूरी में लगाया गया, लेकिन गरीब लोगों को लेकर तमाम तरह की अफवाह थी। कहते थे कि लोग कोरोना से नहीं भूख में मर जाएंगे। शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री ने दो साल तक 80 करोड़ लोगों को खाना देने का काम किया है। कहा कि लोग आजकल उत्तराखंड में आ जाते हैं पिकनिक मनाने। यहां प्रियंका गांधी आई हैं। ये चारधाम चार काम की बात कर रहे हैं, लेकिन प्रधानमंत्री ने सब काम कर दिए हैं। कांग्रेस को आड़े हाथ लेते हुए गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस ने एक दूसरे को लड़ाया है। पहाड़ को मैदान से और कुमाऊं को गढ़वाल से। उन्होंने अपनी जेब भरने का काम किया। कांग्रेस कोई विकास नहीं कर सकती। केवल भाजपा कर सकती है। वो चार धाम चार काम नही करेंगे। केवल चार दाम मांगने वाले हो जाएंगे। विधायक, मंत्री, मुख्यमंत्री और दिल्ली में बैठा परिवार भी वसूली करेगा। शाह ने कहा कि केदारनाथ को देखकर सब कहते हैं। बदरीनाथ धाम का भी हम 400 करोड़ से विकास करने वाले हैं। उत्तराखंड के पर्यटन में कम से कम 300 प्रतिशत की वृद्धि होगी। शाह ने इस दौरान हरीश रावत से सवाल किया, कि जब उत्तराखंड के युवा अलग राज्य की मांग कर रहे थे तो आपका मत क्या था। उत्तराखंड को विकसित बनाने का काम भाजपा कर रही है। ऋषिकेश कर्णप्रयाग लाइन भी बन रही है। देहरादून में मेट्रो भी जल्दी ही लगाएंगे। कहा कि साढ़े सात साल में मोदी ने गरीब के कल्याण में कोई कमी नहीं छोड़ी है। कहा कि सोनिया गांधी की सरकार में पाकिस्तान के आलिया, जमालिया रोज आते थे और हमारे सैनिकों के सर काट कर ले जाते थे। उत्तराखंड ने साथ दिया, मोदी जी प्रधानमंत्री बन गए। पाकिस्तान को समझ नहीं आया कि अब मोनी बाबा मनमोहन पीएम नहीं हैं, मोदी जी है। इसलिए पाकिस्तान को घर में घुसकर मारा। राहुल बाबा और पाकिस्तान छाती पीटकर रो रहे थाे, इससे ज्यादा सर्जिकल स्ट्राइक का क्या सबूत चाहिए। इनके लिए उत्तराखंड एक पिकनिक स्पॉट है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *