सनातन धर्म की रक्षा के लिए गंगा के तट पर होगा माँ बगलामुखी महायज्ञ, अखिल भारतीय संत परिषद के राष्ट्रीय संयोजक ने दी जानकारी

हरिद्वार । सनातन धर्म की रक्षा के लिये माँ गंगा के तट पर होगा माँ बगलामुखी महायज्ञ,हरिद्वार में गंगा तट पर एक बगलामुखी महायज्ञ धर्म की रक्षा के लिये किया जायेगा। अखिल भारतीय संत परिषद के राष्ट्रीय संयोजक यति नरसिंहानन्द सरस्वती महाराज व श्रीब्राह्मण महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष पण्डित अधीर कौशिक ने प्रेस वार्ता के दौरान जानकारी दी। प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए यति नरसिंहानन्द सरस्वती महाराज ने कहा की हमारे धर्म,हमारे परिवार और हमारे अस्तित्व पर ऐसा खतरा कभी नहीं था,जैसा आज है क्योंकि हम कभी भी इतने कमजोर और अकेले नहीं थे, जितने की आज हैं।वस्तुतः यह परिस्थिति हमारी अपनी स्वयं की कायरता,अकर्मण्यता और कमीनेपन के कारण है।हमने अपने धर्म को समझना और समझाना छोड़ दिया और अधर्म को स्वीकार करके केवल अपने स्वार्थों तक ही सीमित हो गए।आज स्थिति ये है की अब सरकार चाहे कितने की कठोर कदम क्यों न उठा ले,भारत का शासन 8 या 10 वर्ष बाद इस्लामिक जिहादियो के हाथों में चला जायेगा।उसके बाद सनातन धर्म की जो रात आएगी, उसकी कोई सुबह नहीं होगी।ये जो स्थिति हुई है,इसके दोषी केवल राजनीति या नेता नहीं हैं बल्कि हम सब भी इसके समान रूप से दोषी है। वस्तुतः हमारा दोष तो नेताओ से भी ज्यादा है क्योंकि नेता तो अपनी बहन, बेटी मुसलमानो को देकर अपनी जान बचा लेंगे जैसे की मुस्लिम राज में राजा करते थे। परंतु हम सब तो वंश विनाश के दोषी होकर हमेशा के लिये नर्क में निर्वासित हो जाएंगे। इन परिस्थितियों से केवल माँ और महादेव ही हमारी रक्षा कर सकते हैं। वहीं हैं जो हमे सद्बुद्धि देकर हमे हमारी कायरता,अकर्मण्यता और कमीनेपन से छुटकारा दिला सकते हैं। ऐसे कठिन समय मे शिवशक्ति धाम डासना का परिवार श्री ब्राह्मण महासभा और त्यागी ब्राह्मण महासभा के साथ मिलकर भूमापीठाधीश्वर स्वामी अच्युतानंद तीर्थ महाराज के पावन सानिध्य में माघ मास की गुप्तनवरात्र में 25 जनवरी 2020 से 3 फरवरी 2020 तक सनातन धर्म की रक्षा,सनातन धर्म के मानने वालों की रक्षा और उनके परिवारों की रक्षा की कामना से माँ गंगा के तट पर हरिद्वार में भूमा घाट(भूमा निकेतन,सप्तर्षि मार्ग के सामने) पर विजय और सद्बुद्धि की देवी माँ बगलामुखी का महायज्ञ करेगा। श्री ब्राह्मण महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष पण्डित अधीर कौशिक जी ने कहा की जो भी सनातन के मानने वाले अपनी और अपने परिवार की रक्षा की कामना करते हैं, वो इस महायज्ञ में अवश्य भाग लें।उन्होंने बताया कि महायज्ञ 25 जनवरी 2020 से 2 फरवरी 2020 तक प्रतिदिन प्रातः 7 बजे से और सायं सूर्यास्त के उपरान्त तक होगा जबकि पूर्णाहुति 3 फरवरी 2020 प्रातः साढ़े दस बजे होगी। उन्होंने हरिद्वार के सभी धर्माचार्यो और साधु संतों से भी इस महायज्ञ में आहुति समर्पित करने का आह्वान किया। प्रेस वार्ता में हिन्दू स्वाभिमान के राष्ट्रीय कार्यवाहक अध्यक्ष बाबा परमेन्द्र आर्य,प्रवीण त्यागी”बॉबी”,यति सत्यदेवानन्द सरस्वती जी,प्रधान मुकेश त्यागी,रेनू त्यागी भी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *