पुण्यतिथि पर याद किए गए पंडित दीनदयाल उपाध्याय, भाजपा कार्यकर्ताओं ने चित्र पर माल्यार्पण कर की श्रद्धांजलि अर्पित, प्रदेश महामंत्री सुबोध राकेश ने कहा एकात्म मानववाद के प्रणेता थे उपाध्याय

भगवानपुर । भगवानपुर में भाजपा कार्यकर्ताओं ने पंडित दीनदयाल उपाध्याय की पुण्यतिथि मनाई। उन्होंने उनके चित्र पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि अर्पित की तथा उनके व्यक्तित्व व कृतित्व पर प्रकाश डाला। इस दौरान भाजपा प्रदेश महामंत्री सुबोध राकेश ने कहा कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय एकात्म मानववाद के प्रणेता थे। देशहित व राष्ट्र सेवा के मार्ग पर चलते हुए उन्होंने अपने प्राणों की आहुति दे दी। सिर्फ भाजपा ही नहीं पूरा देश उनके अविस्मरणीय योगदान का ऋणी है। मंडल अध्यक्ष सुनील बंसल ने कहा डॉ॰ मुखर्जी सच्चे अर्थों में मानवता के उपासक और सिद्धान्तवादी थे। डॉ॰ मुखर्जी इस धारणा के प्रबल समर्थक थे कि सांस्कृतिक दृष्टि से हम सब एक हैं। इसलिए धर्म के आधार पर वे विभाजन के कट्टर विरोधी थे। वे मानते थे कि विभाजन सम्बन्धी उत्पन्न हुई परिस्थिति ऐतिहासिक और सामाजिक कारणों से थी। वे मानते थे कि आधारभूत सत्य यह है कि हम सब एक हैं। हममें कोई अन्तर नहीं है। हम सब एक ही रक्त के हैं। एक ही भाषा, एक ही संस्कृति और एक ही हमारी विरासत है। परन्तु उनके इन विचारों को अन्य राजनैतिक दल के तत्कालीन नेताओं ने अन्यथा रूप से प्रचारित-प्रसारित किया। बावजूद इसके लोगों के दिलों में उनके प्रति अथाह प्यार और समर्थन बढ़ता गया। अगस्त, 1946 में मुस्लिम लीग ने जंग की राह पकड़ ली और कलकत्ता में भयंकर बर्बरतापूर्वक अमानवीय मारकाट हुई। उस समय कांग्रेस का नेतृत्व सामूहिक रूप से आतंकित था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *